सभी ग्रागीणों ने पालिथीन/प्लास्टिक न प्रयोग करने की शपथ ली

Image default
उत्तर प्रदेश

लखनऊ: डा0 ब्रह्मदेव राम तिवारी निदेशक पंचायती राज ने बताया कि पंचायतीराज निदेशालय की टीम के साथ प्रातः 8 बजे बाराबंकी जनपद के देवा ब्लाक की ग्राम पंचायत जमुवासी पहुँच कर ग्राम वासियों को उत्पे्ररित कर स्वच्छता कार्य में सहभागिता की। इस कार्य हेतु ग्राम सभा के कुल 13 वार्डो के लिए 13 टीमें बनाई गई। प्रत्येक टीम का मुखिया वार्ड मेम्बर बनाया गया। उसके नेतृत्व में बनी टीमों में 15 से 20 सदस्य रखे गये जिनमें प्रत्येक टीम में एक-एक निदेशालय का वरिष्ठ अधिकारी व आर्ट आफ लिविंग के सदस्य भी रहे। गाॅव की महिलाओं ने भी इस कार्य में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। सभी ग्रामीणों ने टीमों के साथ मिल कर 131 बोरे प्लास्टिक कचरा, एकत्र किया तथा भविष्य में पालिथीन/प्लास्टिक न प्रयोग करने की शपथ ली।

          निदेशक पंचायतीराज डा0 तिवारी ने लगभग तीन घंटे श्रमदान के उपरांत एकत्र सभा को सम्बोधित करते हुए पालिथीन व प्लास्टिक के प्रयोग को पूर्णतः समाप्त करने तथा उसके विकल्प के उपाय भी बताए। उन्होंने वृक्षारोपण, स्वच्छता के आयामों, फिट इंडिया मूवमेंट, पंचायतों के संचालन तथा उसके परम्परागत स्वरूपों के बारे मे  विस्तार से जानकारी दी। साथ ही खुलेे में शौच मुक्ति का भी मूल्यांकन भी किया। डाॅ0 तिवारी ने प्राथमिक विद्यालय जमुआसी के प्रांगण में वृक्षारोपण भी किया। उन्होने बताया कि ग्राम प्रधान श्री रावत ने ग्रामीणों के साथ शपथ लेकर भविष्य मंे प्लास्टिक प्रयोग न करने तथा खुले में शौच न करने की शपथ ली। इस अवसर पर डा0 तिवारी ने विश्वकर्मा जयंती तथा देश के यशस्वी प्रधानमंत्री के जन्म दिन की शुभकामनाएं दी।

इस मौके पर श्री के0 एस0 अवस्थी संयुक्त निदेशक, श्रीमती प्रवीणा चैधरी उपनिदेशक, श्री  राम सजन चैधरी उपनिदेशक, श्रीमती विशांखा चतुर्वेदी प्राथमिकता आर्ट आफ लिविंग तथा प्रधान ने भी विचार व्यक्त किए। खण्ड विकास अधिकारी देवा, जिला पंचायत राज अधिकारी बाराबंकी की अपनी टीम सहित कार्यक्रम में उपस्थित थे। इस अवसर पर सभी ने स्वच्छता सेवा करते रहने का संकल्प भी लिया। कार्यक्रम के अन्त में श्री गिरीश चन्द रजक उप निदेशक एसबीएम ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Related posts

निर्धारित समय सीमा के अंदर पूरे किए जाएं निर्माण कार्य: केशव प्रसाद मौर्य

सीएम योगी ने बताया बंदरों के ‘आतंक’ से बचने का तरीका

सिद्धार्थनगर की निकाय बांसी को 92 आवासों के लिए 213.95 लाख रूपये मंजूर