Breaking News
Home » देश-विदेश » सरकार विदेशी फिल्मकारों द्वारा भारत में शूटिंग को और अधिक प्रोत्साहित करने के उपाय कर रही हैः अमित खरे

सरकार विदेशी फिल्मकारों द्वारा भारत में शूटिंग को और अधिक प्रोत्साहित करने के उपाय कर रही हैः अमित खरे

नई दिल्ली: सूचना और प्रसारण सचिव श्री अमित खरे ने कान्स फिल्म समारोह-2019 में इंडिया पैविलियन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर श्री जैरोम पाइलार्ड, कार्यकारी निदेशक, मार्से दू फिल्म, कान्स फिल्म मार्केट, सीबीएफसी के अध्यक्ष श्री प्रसून जोशी तथा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता भारतीय फिल्मकार सुश्री रीमा दास उपस्थित थीं।

आईएफएफआई स्वर्ण जयंती पर विशेष आईएफएफआई पोस्टर जारी किया गया। इसके साथ-साथ भारत में फिल्म निर्माण प्रणाली तथा भारत में फिल्मों की शूटिंग के लिए विदेश फिल्मकारों को प्रोत्साहन के महत्व को दिखाते हुए विस्तृत फिल्म गाईड भी जारी किया गया।

श्री अमित खरे ने अपने उद्घाटन भाषण में भारत में मीडिया तथा मनोरंजन उद्योग में उभर रही प्रवृत्तियों का जिक्र किया। उन्होंने देश में क्षेत्रीय सिनेमा के बढ़ते महत्व, फिल्मों की शूटिंग को प्रोत्साहित करने के लिए राज्यों की बढ़ती भूमिका का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि फिल्म पर्यटन तथा अर्थव्यवस्था में आपसी संबंध है और एनिमेशन तथा वर्चुअल रियलिटी जैसी टेक्नोलॉजी पर फोकस पहले से अधिक बढ़ता जा रहा है। श्री खरे ने फिल्म सहायता कार्यालय के माध्यम से भारत में फिल्मों की शूटिंग में सहजता के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की चर्चा की। फिल्म सहायता कार्यालय फिल्मकारों के लिए एकल खिड़की मंजूरी में सहायता देता है। उन्होंने कहा कि सरकार विदेशी फिल्मकारों को भारत में शूटिंग करने के लिए और अधिक प्रोत्साहन के उपाय पर विचार कर रही है।

श्री जैरोम पाइलार्ड, कार्यकारी निदेशक, मार्से दू फिल्म, कान्स फिल्म मार्केट ने भारत तथा भारतीय फिल्मकारों के साथ सहयोग की विश्वभर में बढ़ रही मांग की चर्च की। श्री प्रसून जोशी ने कहा कि इंडिया पैविलियन न केवल विचारों का बल्कि कार्य लागू करने का भी केन्द्र है। सुश्री रीमा दास ने देश में क्षेत्रीय सिनेमा को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार के प्रयासों की सराहना की।

इंडिया पैविलियन की स्थापना सभी भाषा, सांस्कृतिक और क्षेत्रीय विविधता के सिनेमा को दिखाने के लिए की गई है और इसका उद्देश्य फिल्म वितरण, निर्माण, भारत में शूटिंग, स्क्रीप्ट विकास, टेक्नोलॉजी, फिल्म बिक्री प्रोत्साहन और सिंडीकेट में विदेशी-अंतर्राष्ट्रीय साझेदारी को बढ़ाना है। इंडिया पैविलियन भारतीय प्रतिनिधियों को फिल्म समारोह में शामिल होने वाले अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधियों से मिलने का एक मंच है ताकि अन्य देशों और संगठनों के साथ नेटवर्क को प्रोत्साहित किया जा सके। यह पैविलियन वैश्विक फिल्म समुदाय के लिए भारत तथा भारतीय सिनेमा के बारे में सूचना प्रसार का केन्द्र भी होगा।http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image002V727.jpg

भारतीय प्रतिनिधिमंडल फिल्म समारोह के दौरान कान्स के हितधारकों तथा फिल्म जगत के अन्य सदस्यों के साथ संवाद करेगा और इस वर्ष आईएफएफआई की मनाई जाने वाली स्वर्ण जयंती समारोह को भी प्रोत्साहित करेगा। तकनीकी विशेषज्ञों और कुशल पेशेवरों का लाभ उठाने के लिए प्रतिनिधिमंडल भारत को फिल्म निर्माण के बाद के कार्यों के केन्द्र के रूप में प्रदर्शित करेगा ताकि अंतर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माताओं के साथ सहयोग को बढ़ावा दिया जा सके।

About admin