अधर्म पर धर्म की विजय का त्योहार दशहरा, जानिए विजयदशमी का शुभ मुहूर्त

Image default
अध्यात्म उत्तर प्रदेश

दशहरा हिंदूओं के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। पंचाग के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को विजयदशमी अथवा दशहरे के रुप में देशभर में मनाया जाता है। अहंकार पर विजय का पर्व दशहरा शारदीय नवरात्रि के दसवें दिन आता हैQ विजयदशमी का त्योहार अच्छाई की बुराई पर जीत के रूप में मनाई जाती है।आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को देशभर दशहरे का उत्सव मनाया जाता है। इस बार वर्ष 2019 में दशहरा या विजयादशमी का पर्व 08 अक्टूबर मनाया जाएगा।

भगवान राम की रावण पर और माता दुर्गा की महिषासुर पर जीत के इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई और अधर्म पर धर्म की विजय के रुप में देशभर में मनाया जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, दशहरे दिन ही भगवान राम ने लंका के राजा निशाचर रावण का वध किया था। इसी की खुशी में दशमी तिथि को विजयादशमी के पर्व के रूप में मनाया जाता है। युद्द में विजय के कारण और पांडवों जुड़ी एक कथा के कारण विजयदशमी को हथियार (अस्त्र-शस्त्र) पूजने की परंपरा भी है।

दशहरे के दिन अगर किसी को नीलकंठ पक्षी दिख जाए तो काफी शुभ होता है। नीलकंठ भगवान शिव का प्रतीक है जिनके दर्शन से सौभाग्य और पुण्य की प्राप्ति होती है। दशहरे के दिन गंगा स्नान करने को भी बहुत महत्वपूर्ण बताया गया है। दशहरे के दिन गंगा स्नान करने का शुभ फल कई गुना बढ़ जाता है। इसलिए दशहरे दिन लोग गंगा या अपने इलाके की पास किसी नदी में स्नान करने जाते हैं।

`दशहरा 2019:शुभ मुहूर्त

8 अक्तूबर

विजय मुहूर्त- 14:04 से 14:50

अपराह्न पूजा समय- 13:17 से 15:36

दशमी तिथि आरंभ- 12:37 (7 अक्तूबर)

दशमी तिथि समाप्त- 14:50 (8 अक्तूबर)

Related posts

पुलिस महानिदेशक, उ0प्र0 के निर्देश पर पुलिस लाइन लखनऊ में ‘नेतृत्व क्षमता’ विषय पर सेमिनार सम्पन्न

बायोमास गैसीफायर से ऊर्जा उत्पादन पर कार्यशाला आयोजित देशहित में बायोमास गैसीफायर तकनीक को बढ़ाना आवश्यक: पार्थ सारथी सेन शर्मा

मद्यनिषेध विभाग द्वारा माह जनवरी में 8 जनपदों में शिक्षात्मक प्रतियोगिताएं आयोजित की गयी