आप अब अपने आरोग्य सेतु ऐप से अपना आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (एबीएचए) नंबर प्राप्त करें

देश-विदेश सेहत

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) की अपनी प्रमुख योजना के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा बेहद लोकप्रिय स्वास्थ्य ऐप आरोग्य सेतु के साथ एकीकरण की घोषणा की। यह एकीकरण 14-अंकों की यूनीक एबीएचए (आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता) संख्या का लाभ आरोग्य सेतु उपयोगकर्ता के जन समूह और उससे आगे तक पहुंचाएगा।

एबीडीएम के अंतर्गत, एक उपयोगकर्ता अपना विशिष्ट एबीएचए नंबर जनरेट कर सकता है। वे डॉक्टर के नुस्खे, लैब रिपोर्ट, अस्पताल के रिकॉर्ड आदि सहित अपने मौजूदा और नए मेडिकल रिकॉर्ड को जोड़ने के लिए एबीएचए नंबर का उपयोग कर सकते हैं और इन रिकॉर्ड्स को पंजीकृत स्वास्थ्य पेशेवरों तथा स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर सकते हैं और चिकित्सा इतिहास के एक सामान्य पूल को बनाए रखते हुए अन्य डिजिटल स्वास्थ्य सेवाओं तक भी पहुंच हासिल कर सकते हैं।

एकीकरण के बारे में विस्तार से बताते हुए, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी-सीईओ डॉ. आर एस शर्मा ने कहा, “आरोग्य सेतु ने कोविड-19 महामारी के बीच एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसके परिणामस्वरूप इस मोबाइल एप्लिकेशन का व्यापक उपयोग हुआ है। चूंकि टीकाकरण हमें इस महामारी से लड़ने में मदद करता है, इसलिए व्यापक रूप से उपयोग किये जाने वाले इस डिजिटल सार्वजनिक ऐप का पुन: उपयोग करना आवश्यक था। एबीडीएम के साथ आरोग्य सेतु के एकीकरण से, हम अब एबीडीएम के लाभ आरोग्य सेतु के उपयोगकर्ताओं को उपलब्ध कराने में सक्षम होंगे और उन्हें उनकी उचित सहमति से डिजिटल स्वास्थ्य ईकोसिस्टम में शामिल होने के लिए सक्षम बनाएंगे। एबीएचए का निर्माण एक शुरुआत है, और हम जल्द ही आपके डिजिटल स्वास्थ्य रिकॉर्ड को भी देखने की कार्यक्षमता शुरू करेंगे।”

आरोग्य सेतु ऐप का एक बहुत बड़ा सक्रिय उपयोगकर्ता आधार है और इसका उपयोग पहले से ही कोविड-19 संबंधित संपर्क की जानकारी प्राप्त करने से लेकर जोखिम कारक के लिए किया जा रहा है। इसका उपयोग भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आईसीएमआर दिशानिर्देश आधारित स्व-मूल्यांकन, कोविड-19 वैक्सीन बुकिंग, प्रमाणपत्र डाउनलोड और स्थिति की जांच, ई-पास बनाने के लिए भी किया जा रहा है। कोविड-19 परीक्षण सुविधाएं, हेल्पलाइन संपर्क और अन्य कोविड-19 आँकड़े तथा अपडेट प्रदान करने वाली आईसीएमआर-अनुमोदित प्रयोगशालाओं की खोज भी इस ऐप से की जा रही थी। एबीडीएम के साथ यह एकीकरण ऐप उपयोगकर्ताओं के लिए एबीएचए नंबर जनरेट करने की एक और विशेषता जोड़ देगा।

एकीकरण के संबंध में इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव श्री अजय प्रकाश साहनी ने कहा, “आरोग्य सेतु ने नागरिकों के लिए एक महत्वपूर्ण सहमति आधारित विकल्प को सक्षम किया है जो उन्हें राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य प्रणाली से अपने व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड और उपयोगी सेवाओं तक पहुंचने में मदद करेगा।”

एबीएचए नंबर जनरेट करना काफी सरल है। उपयोगकर्ता अपने आधार नंबर और कुछ बुनियादी जनसांख्यिकीय विवरण जैसे नाम, जन्म वर्ष (या जन्म तिथि), लिंग और पता (उपयोगकर्ता द्वारा आधार ओटीपी के माध्यम से प्रमाणित होने के बाद ऑटो-पॉप्युलेट) का उपयोग करके अपना एबीएचए नंबर जेनरेट कर सकते हैं। यदि उपयोगकर्ता अपने आधार का उपयोग नहीं करना चाहता है, तो वे एबीएचए नंबर जनरेट करने के लिए अपने ड्राइविंग लाइसेंस या मोबाइल नंबर का उपयोग कर सकते हैं। उपयोगकर्ता अपना एबीएचए नंबर: https://abdm.gov.in/ या एबीएचए  ऐप (https://play.google.com/store/apps/details?id=in.ndhm.phr) या एबीडीएम के साथ एकीकृत अन्य ऐप्स से जेनरेट कर सकते हैं।

एबीडीएम के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां पर क्लिक कीजिए : https://abdm.gov.in/

Related posts

विश्‍व पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्‍या पर केन्‍द्रीय पर्यावरण मंत्री ने #SelfiewithSapling (सेल्‍फीविदसैपलिंग) अभियान लांच किया

अगर हम अपने नागरिकों को शिक्षित और सशक्त बनाना चाहते हैं, तो हमें उन बाधाओं को दूर करना होगा, जिनका वे जानकारी प्राप्त करने में सामना करते हैं: उपराष्‍ट्रपति

सीबीडीटी ने 4,250 करोड़ रुपये के 10.2 लाख से भी अधिक रिफंड एक सप्ताह में ही जारी कर दिए