योग व हर्बल ग्राम के सम्बन्ध में पर्यटन व आयुष विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुएः मुख्यमंत्री

Image default
उत्तराखंड
देहरादून: प्रदेश में 13 योग व हर्बल ग्राम विकसित किए जाएंगे। सोमवार को बीजापुर में संबंधित अधिकारियों की बैठक में निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि चमेाली के गैरसैंण व ग्वालदम, देहरादून के हनोल व देववन, उत्तरकाशी के सरनौल व हर्षिल, पिथौरागढ़ के मुनस्यारी व चौकोड़ी,  चम्पावत के मायावती, अल्मोड़ा के जागेश्वर व काकड़ीघाट, पौड़ी के खिर्सू, टिहरी के  मदननेगी में योग व हर्बल ग्राम विकसित किए जाएं। यह सुनिश्चित किया जाए कि इनसे स्थानीय युवाओं को आय व रोजगार संबंधी लाभ मिले।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने चयनित गांवों में सघटन हर्बल प्लांटेशन किया जाए। यह कार्य वनपंचायतों के सहयोग से किया जा सकता है। इन गांवों में होम-स्टे कन्सेप्ट भी लाई जाए। अल्मोड़ा स्थित काकड़ीघाट में लघु जलाशय विकसित कर जल पर्यटन की सम्भावना देखी जाए। भवाली से खैरना मार्ग का नाम बाबा नीम करौली मार्ग व खैरना से अल्मोड़ा मार्ग का नाम विवेकानंद मार्ग रखा जाए।

Related posts

उत्तराखण्ड अन्तरिक्ष विकेन्द्रीकृत नियोजन के लिए सूचना समर्थन पर एक दिवसीय राज्य स्तरीय कार्यशाला को सम्बोधित करते हुएः सीएम

विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुएः मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सौजन्या

पलायन आयोग द्वारा तैयार की गई जनपद चमोली की रिपोर्ट का विमोचन करते हुएः सीएम

Leave a Comment