कृषक मेले में लगाए गए स्टाॅलों का निरीक्षण करते हुएः मुख्यमंत्री – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » कृषक मेले में लगाए गए स्टाॅलों का निरीक्षण करते हुएः मुख्यमंत्री

कृषक मेले में लगाए गए स्टाॅलों का निरीक्षण करते हुएः मुख्यमंत्री

देहरादून: प्रदेश की सभी मंडियां आगामी 6 माह में एक मार्केट स्वंय सहायता समूहों के उत्पादों के लिए बनायेंगे। इसके साथ ही प्रदेश में बनने वाले बड़े स्पोर्टस स्टेडियम, रोडवेज स्टेशन, चारधामों में भी ऐसे ही मार्केट बनाये जायेंगे। हमें अपने उत्पादों की ब्रांडिंग खुद करनी होगी। इसके हम सभी को अपने समन्वित प्रयास करने होंगे। हम अपनी खेती, अच्छी शिक्षा और पानी पर फोकस करें, तो हमारे युवाओं को रोजगार मिलेगे और पलायन रूकेगा। यह बात मुख्यमंत्री हरीश रावत ने निरंजनपुर में उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन मण्डी समिति द्वारा आयोजित तीन दिवसीय कृषक मेला के उदघाटन अवसर पर कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मेले में लगे स्टाॅलों का अवलोकन भी किया और स्टाॅलों में रखे गये उत्पादों की जानकारी भी ली।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के हितों के प्रति वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि आज आवश्यकता इस बात की है कि लोग फिर से खेती को आशावादी नजरिये से देखे। इस पर विचार करना होगा और इसके लिए कृषि व उद्यान क्षेत्र से जुडे सभी विभागांे की सामूहिक जिम्मेदारी है कि वे इस दिशा में आगे बढे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि किसानों को नई तकनीक, अच्छी गुणवत्ता के बीज, नई जानकारियां पहुंचानी होगी। प्रदेश में ऐसे कई किसान है, जिन्होने अपनी मेहनत से अपने लिए खुशहाली के रास्ते खोले है। ऐसे किसान औरों के लिए भी प्रेरणा बन सकते है। कृषि विभाग के अधिकारी प्रत्येक जिले में ऐसे किसानों को चिन्हित करें और उनसे अन्य किसानों के साथ चर्चा करवाये। स्थानीय उत्पादों को प्रोत्साहित करने की आवश्यता है। इसके लिए निर्देश दिये गये है कि ब्लाॅकों को माॅडल ब्लाॅक के रूप में चिन्हित करें। अब माल्टा, अखरोट, नीबू आदि को ब्लाॅकवार विकसित करें। हमें अपने स्थानीय उत्पादों की ब्रांडिंग स्वयं करनी होगी। इसके लिए हम सभी को समन्वित प्रयास करने होंगे। सरकार इस दिशा में आगे बढ़ रही है। हमने आंगनबाड़ी में मंडुवा व काले भट का अधिक उपयोग करने के निर्देश दिये है। इसी प्रकार से राजकीय भोज समारोह में भी स्थानीय उत्पादों को शामिल करने का कहा गया है।
कृषि मंत्री डाॅ. हरक सिंह रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री रावत के दृढ़ संकल्प का परिणाम है हम किसानों के हितों में अहम निर्णय ले पाये हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की खुशहाली के लिए राज्य सरकार वचनबद्ध है।
इस अवसर पर उत्तराखण्ड कृषि उत्पादन मण्डी समिति, निरंजनरपुर के अध्यक्ष रविन्द्र सिंह आनन्द, सभा सचिव एवं विधायक डाॅ. हरक सिंह रावत, पूर्व विधायक गोपाल राणा, केदार सिंह रावत, प्रमुख सचिव कृषि एस.रामास्वामी आदि उपस्थित थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.