गुमशुदा एवं अज्ञात शवों की जानकारी आमजन तक पहुंचाये जाने हेतु सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जाये

Image default
उत्तराखंड

देहरादून: अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड के आदेशानुसार दिनांक 01 मई 2018 से 03 माह का ऑपरेशन शिनाख्त अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें प्रदेश में वर्ष 2015 से 31 मार्च 2018 तक बरामद अज्ञात शवों की शिनाख्त प्रदेश के गुमशुदा व्यक्तियों से कराया जा रहा है। उक्त अभियान में प्रदेश के प्रत्येक जनपद में एक निरीक्षक/उपनिरीक्षक के नेतृत्व में शिनाख्त टीम का गठन किया गया है। जिसका नोडल अधिकारी जनपद स्तर पर अपर पुलिस अधीक्षक/पुलिस उपाधीक्षक को तथा पुलिस मुख्यालय में श्रीमती प्रीति प्रियदर्शनी, पुलिस अधीक्षक एस0सी0आर0बी0 को नियुक्त किया गया है। आज दिनांक 13 जून 2018 को अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा दिनांक 01 मई 2018 से 12 जून 2018 तक अभियान में किये गये कार्यों की समीक्षा की गयी।

श्री अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा निर्देशित किया गया कि प्रदेश में बरामद होने वाले प्रत्येक अज्ञात शवों का सम्पूर्ण विवरण अलग-अलग तैयार कर थाने स्तर व डीसीआरबी में सुरक्षित रखे जायें, जिसका पर्यवेक्षण पुलिस उपाधीक्षक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा किया जायेगा। पंचायतनामा में शव का सम्पूर्ण विवरण (कपड़े, चोट के निशान, टेटू तथा अन्य कोई निशान आदि) भरा जाये तथा शवों की सभी एंगल से फोटोग्राफी की जाये। साथ ही अज्ञात शवों की शिनाख्त हेतु समस्त प्रयास किये जायें। राज्य के गुमशुदा एवं अज्ञात शवों की जानकारी आमजन तक पहुंचाये जाने हेतु   सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जायेगा। तथा इसकी जानकारी उत्तराखण्ड पुलिस के वेबसाईट (https://uttarakhandpolice.uk.gov.in/pages/show/108-crime) पर भी उपलब्ध है।

 दिनांक 01 मई 2018 से 12 जून 2018 तक अभियान में 36 अज्ञात शवों (31 पुरुष व 5 महिलाओं) की शिनाख्त की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त राज्य में 22 व्यक्तियों को ऑपरेशन शिनाख्त तथा 182 व्यक्तियों (कुल  204 व्यक्तियों) को बरामद किया गया।

उक्त अभियान में जनपद पौड़ी गढ़वाल की टीम के प्रभारी निरीक्षक श्री मनोज मैनवाल तथा टीम सदस्य उपनिरीक्षक श्री कृपाल सिंह को श्री अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, उत्तराखण्ड द्वारा सराहनीय कार्य करने पर 2500-2500 रुपये के पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गयी तथा उनके द्वारा बताया गया कि आगे भी सराहनीय कार्य करने वाली टीम को पुरस्कृत किया जायेगा।

उक्त समीक्षा में श्री दीपम सेठ पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्रीमती प्रीति प्रियदर्शनी पुलिस अधीक्षक/नोडल अधिकारी ऑपरेशन शिनाख्त पुलिस मुख्यालय, श्री मंजू नाथ टी0सी0 पुलिस अधीक्षक (क्राईम) हरिद्वार, श्री लोकेश्वर सिंह पुलिस अधीक्षक (क्राईम) देहरादून, श्रीमती कमलेश उपाध्याय पुलिस अधीक्षक (क्राईम) ऊधमसिंहनगर तथा समस्त जनपदों के ऑपरेशन टीम के प्रभारी मौजूद रहे।

Related posts

सहस्त्रधारा में पार्किंग स्थल का शिलान्यास करते हुए: मुख्यमंत्री हरीश रावत

अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित आईस सकैटिंग की विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्तराखण्ड के पदक विजेता खिलाड़ियों के साथ मुख्यमंत्री

राज्य के पर्यटन के क्षेत्र में निवेश करने वाले प्रतिनिधिमण्डल के साथ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत