अभिरुचि व्यक्त करने वाले पक्षों से खुले आमंत्रण के जरिए प्राप्त प्रस्तावों के आधार पर रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास

Image default
देश-विदेश

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आज केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने ‘जैसा है जहां है’ आधार पर अभिरुचि व्‍यक्‍त करने वाले पक्षों से खुले आमंत्रण के माध्‍यम से क्षेत्रीय रेलवे द्वारा रियल एस्‍टेट के वाणिज्‍यिक विकास सहित डिजाइन तथा व्‍यवसाय विचार के साथ रेलवे स्‍टेशनों के पुनर्विकास के लिए मंजूरी दे दी।

     अभिरुचि व्‍यक्‍त करने वाले पक्षों से खुली निविदा द्वारा स्‍टेशनों के पुनर्विकास के लिए ‘ए 1’ तथा ‘ए’ श्रेणी के स्‍टेशनों की (लगभग 400) प्रस्‍तुति की जाएगी। इन स्‍टेशनों का विकास भूमि तथा स्‍टेशनों के आसपास के स्‍थानों का लाभ उठाते हुए किया जाएगा।

     इस मंजूरी से रेल मंत्रालय को ‘ए 1’ तथा ‘ए’ श्रेणी के स्‍टेशनों के पुनर्विकास में तेजी लाने में मदद मिलेगी। इन श्रेणियों के स्‍टेशन सामान्‍यत: मेट्रो शहरों, प्रमुख शहरों, धार्मिक केन्‍द्रों तथा महत्‍वपूर्ण पर्यटक स्‍थलों पर हैं। इससे अभिरुचि वाले पक्षों से नवाचार को प्रोत्‍साहन मिलेगा और रेलवे को कोई लागत वहन नहीं करना पड़ेगा।

  संदर्भ :

     भारतीय स्‍टेशन विकास निगम लिमिटेड (आईआरएसडीसी) के माध्‍यम से चिह्नित स्‍टेशनों का पुनर्विकास किया जा रहा है। आईआरएसडीसी केवल कुछ ही स्‍टेशनों का पुनर्विकास करने में सक्षम है। काफी संख्‍या में स्‍टेशनों के पुनर्विकास की आवश्‍यकता है इसलिए अभिरुचि वाले पक्षों से खुली निविदा के माध्‍यम से स्‍टेशनों के पुनर्विकास का प्रस्‍ताव है।

Related posts

गृह राज्य मंत्री श्री किरण रिजिजू ने भारत-चीन सीमा पर स्थित सीमा चौकियों का दौरा किया

लोन हो सकता है सस्ता, आरबीआई ने कम किया रेपो रेट

भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 04.10.2017 को 54.60 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही

Leave a Comment