उड्डयन मंत्री ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स को लेकर किया बड़ा ऐलान, कहा- मध्य जून से शुरू हो सकती हैं उड़ानें

Image default
देश-विदेश

नई दिल्ली: 25 मई से घरेलू उड़ानों की शुरुआत करने की घोषणा के बाद अब केंद्र सरकार इंटरनेशलन उड़ानों को भी शुरू करने पर विचार कर रही है। नागरिक उड्‌डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को कहा कि, जून मध्य या फिर जुलाई के पहले हफ्ते में इंटरनेशनल फ्लाइट्स को शुरू कर देंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि, आरोग्य सेतु ऐप पर ग्रीन स्टेटस दिखाने वाले हवाई यात्रियों को क्वारंटाइन किए जाने की आवश्यकता नहीं है।

फेसबुक लाइव के दौरान हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि, मुझे पूरी उम्मीद है कि अगस्त या सितंबर से पहले हम पूर्ण रूप से ना सही, लेकिन अच्छी-खासी संख्या में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन को फिर से शुरू करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा, मैं फिलहाल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की कोई सटीक तारीख नहीं बता सकता हूं, लेकिन यदि कोई व्यक्ति कहता है कि क्या यह अगस्त या सितंबर तक हो सकता है, तो मेरा जवाब होगा कि इससे पहले क्यों नहीं और यह यह स्थिति पर निर्भर करता है।

हरदीप पुरी ने कहा कि, अगर वायरस की रफ्तार कम हुई तो हमें इसके साथ रहने की आदत डालनी होगी। हम कोशिश करेंगे कि जून के मध्य या फिर जुलाई के पहले हफ्ते में इंटरनेशनल फ्लाइट्स को शुरू कर दें। अंतरर्राष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी व एयरलाइंस कंपनियां पूरी तरह से तैयार हैं। पुरी ने बताया कि 25 मई से 33% घरेलू उड़ानें शुरू हो रही हैं। अभी जो आंकड़े आए हैं, उसके मुताबिक बुकिंग के पहले दिन काफी लोगों ने टिकट लिए हैं। फ्लाइट सेवा की काफी डिमांड है।

उड्डयन मंत्री ने कहा कि, घरेलू उड़ान के लिए डिटेल एसओपी जारी कर दी गई है। एयरपोर्ट पर दो घंटे पहले आने होगा और मास्क पहनना होगा। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग पालन करना होगा। सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा कि उनमें कोई लक्षण नहीं है, तभी बोर्डिंग पास मिलेगा। उन्होंने कहा कि, घरेलु उड़ानों में खाना अभी नहीं मिलेगा। हां, पानी जरूर उपलब्ध होगा। source: oneindia

Related posts

राष्‍ट्रपति कल ‘इम्प्रिंट इंडिया’ का शुभारम्‍भ करें

पेट्रोलियम मंत्री ने ओडिशा के मुख्यमंत्री से 18 अगस्त 2017 को नयी दिल्ली में भेंट की

नरेन्द्र सिंह तोमर ने “डिजिटल इंडिया भूमि अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम (डीआईएलआरएमपी) में सर्वोत्तम प्रथाओं” पर पुस्तिका जारी की