सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनता से वार्ता करते हुएः मुख्यमंत्री

Image default
उत्तराखंड
देहरादून: मुख्यमंत्री हरीश रावत का सोशल मीडिया संवाद कार्यक्रम आयोजित हुआ। वे अपने फेसबुक व ट्वीटर अकाउंट के माध्यम से आॅनलाईन लोगों से

रूबरू हुए। उनके लाईव आते ही बड़ी संख्या में लोगों ने कमैंट करने शुरू कर दिए। मुख्यमंत्री ने भी इत्मीनान से लोगों के कमेंट व पोस्ट पढ़े और उनके जवाब देकर लोगों को संतुष्ट करने का भी प्रयास किया।
मुख्यमंत्री श्री रावत के अकाउंट पर सैंकडों फेसबुक यूजर ने कमेंट व इनबाक्स मैसेज द्वारा अपने सुझाव, शिकायतें व समस्याओं की जानकारी दी। बागेश्वर से नवीन आर्या ने अपने क्षेत्र की सड़क की समस्या से मुख्यमंत्री श्री रावत को अवगत कराया जिसपर उन्होने लोक निर्माण विभाग को पत्र लिख समस्या हल करनेे का आश्वासन दिया। लैंसडौन, पौड़ी गढ़वाल निवासी विक्की रावत ने ताड़केश्वर महादेव मंदिर को धाम की तर्ज पर विकसित करने, सड़क के चैड़ीकरण सहित क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं में अपने सुझाव दिये जिस पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि आपका सुझाव बहुत अच्छा लगा हम इस पर काम करेंगे। पौड़ी निवासी अनुकेत दनशोई ने अपने क्षेत्र में पाईप लाईन की समस्या मुख्यमंत्री के सामने रखी जिस पर उन्होने समस्या के शीघ्र निस्तारण का आश्वासन दिया। रूद्रप्रयाग निवासी अनिल रावत ने लैंको कम्पनी में पुनः नियुक्ति सम्बंधी समस्या से मुख्यमंत्री श्री रावत को अवगत कराया जिसपर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी रूद्रप्रयाग को समस्या हल हेतु आवश्यक निर्देश दिये। प्रदेश में कई युवाओं ने एलटी रिजल्ट में हो रही देरी से मुख्यमंत्री श्री रावत को अवगत कराया इस विषय पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि एलटी का परीक्षा परिणाम घोषित किये जाने की दिशा में शासकीय आदेश जारी कर दिये गये है अभी कुछ दिन पूर्व ही एलटी के विषय में एक उच्च स्तरिय बैठक में इस विषय में निर्णय लिये गये है। देहरादून निवासी जय देव सिंह रावत, दिल्ली निवासी महेन्द्र सिंह सहित अन्य लोगो ने उन्नति प्रोजेक्ट शुरू न होने से हो रही समस्या मुख्यमंत्री को बताई जिस पर उन्होने कहा कि शीघ्र ही यह प्रोजेक्ट शुरू कर दिया जायेगा। मसूरी निवासी शीशराम बडौनी ने पहाड़ो में शिक्षा की समस्या रखी जिसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी को शिक्षा का अधिकार प्राप्त है तथा हम पूरी कोशिश कर रहे है विशेषकर पहाड़ी क्षेत्रों में। नरेन्द्र सिंह ने पहाड़ो के बंजर खेतो में पेड़ लगाने व बेचने एवं ट्रान्सपोर्ट में सरकार के सहयोग से पलायन को रोकने के अपने सुझाव से मुख्यमंत्री को अवगत कराया, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आपने सही समस्या उठाई है इस ओर हमारा प्रयास जारी है जिस हेतु राज्य सरकार ने वृक्ष लगाने पर बोनस योजना शुरूआत की है, निजी खेत में उगे वृक्ष के निकासी के नियम सरल किये जा रहे है।

Related posts

रेसकोर्स में आयोजित कर प्रेस वार्ता में प्रेस को जानकारी देते हुए: दिनेश अग्रवाल

मुख्यमंत्री आवास पर गुरूनानक जी की जयंती एवं कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर राष्ट्रीय सिक्ख संगत के प्रतिनिधिमंडल से शिष्टाचार भेंट करते हुएः सीएम

उच्च शिक्षा के सम्बन्ध मुख्यमंत्री के घोषणा के सम्बन्ध में बैठक करते हुएः डाॅ0 धन सिंह रावत

Leave a Comment