दिल्ली एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग, केबिन से निकला धुआं

देश-विदेश

दिल्ली एयरपोर्ट पर में स्पाइस जेट के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग की गई है। दिल्ली से जबलपुर के लिए उड़ान भरने के दौरान विमान के केबिन से धुआं उठता देख पायलट ने इमरजेंसीलैंडिंग करा दी।

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली-जबलपुर स्पाइसजेट विमान (SG-2962) को शनिवार सुबह दिल्ली हवाई अड्डे पर उस समय वापस लैंडिंग करानी पड़ी, जब केबिन क्रू ने विमान के अंदर धुआं उठता देखा, विमान 5,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था। स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने कहा कि सभी यात्रियों को दिल्ली हवाईअड्डे पर सुरक्षित उतार लिया गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के एक वीडियो में दिख रहा है कि केबिन में धुआं घुसते ही यात्री अखबारों और एयरलाइन बुकलेट से खुद की हवा करते हुए दिखाई दे रहे हैं।

एक यात्री सौरभ छाबड़ा ने ट्विटर पर वीडियो शेयर किया। साथ में उसने लिखा कि आज सुबह इस घटना का सामना करना पड़ा। ऐसा लगता है कि स्पाइसजेट यात्रा के लिए अब असुरक्षित है। एक बार को तो यात्री घबराने लग गए थे, वह वापस दिल्ली लौट आए हैं। विमान में आग लग गई थी। शुक्र है कि हम सुरक्षित हैं उन्होंने यह भी लिखा वह लंबे समय से फ्लाइट का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन स्पाइसजेट के पास बैकअप नहीं है।

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में स्पाइसजेट के विमानों में लगातार घटनाएं हो रही हैं, इस वजह से यात्रियों की सुरक्षा पर भी सवाल उठा रहा है। 19 जून को पटना एयरपोर्ट पर दिल्ली के लिए उड़ान भरने वाले स्पाइस जेट के विमान में अचानक आग लग गई। आनन-फानन विमान की एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। बताया जा रहा है कि जिस समय विमान में आग लगी, उसमें 185 यात्री सवार थे।

दिल्ली से जबलपुर जा रहे स्पाइसजेट विमान की भी कराई गई इमरजेंसी लैंडिंग
वहीं 19 जून को ही दिल्ली से जबलपुर जा रहे स्पाइसजेट विमान में उड़ान भरने के बाद तकनीकी खराबी हो गई। इसके बाद विमान की आईजीआई एयरपोर्ट टर्मिनल-1 पर इमरजेंसी लेंडिंग कराई गई थी। विमान में उस समय क्रू मेंबर समेत 82 यात्री सवार थे।
सोर्स: यह Amar ujala न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ श्रमजीवी जर्नलिस्ट टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Related posts

एनएचएआई का बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण अभियान: पिछले साल 2.5 लाख से ज्‍यादा वृक्ष लगाये गये

रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने सीबीएसई के 34 शिक्षकों को दिए शिक्षक पुरस्कार

सेज नीति समीक्षा समिति ने नई दिल्ली में अंतिम बैठक की