पारिवारिक आय और जीवन स्तर में सुधार हेतु स्वयं सहायता समूह की भूमिका अहम: श्री तोमर

Image default
देश-विदेश

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नोएडा में आज सरस आजीविका मेला 2021 का उद्घाटन किया। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी भी उपस्थित थे।

उद्घाटन अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए श्री तोमर ने कहा कि ग्रामीण विकास मंत्रालय, स्वयं सहायता समूहों में और अधिक संख्या में महिलाओं को सम्मिलित करने पर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूहों ने पारिवारिक आय में वृद्धि और जीवन स्तर में सुधार के लिए महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।

प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के आह्वान के संदर्भ में बात करते हुए श्री तोमर ने कहा कि यह लक्ष्य सिर्फ सरकार की योजनाओं और प्रयासों से हासिल नहीं होगा, लोगों की सहभागिता इसके लिए महत्वपूर्ण होगी और स्वयं सहायता समूह इस लक्ष्य को हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं। उन्होंने सशक्त स्वयं सहायता समूहों से आगे आने और अन्य स्वयं सहायता समूहों की मदद करने का आह्वान किया ताकि वह भी आत्मनिर्भर बन सकें।

श्री कैलाश चौधरी ने कोविड-19 महामारी के दौरान ग्रामीण महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए स्वयं सहायता समूहों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह में निर्यात गुणवत्ता का उत्पाद निर्मित करने की क्षमता है और इन समूहों की मदद से देश को आत्मनिर्भर बनाने का सपना साकार हो सकता है।

ग्रामीण विकास मंत्रालय में सचिव श्री नागेंद्र नाथ सिन्हा ने स्वयं सहायता समूह और हस्तशिल्पियों को सुझाव दिया कि ग्राहक की मांग के बारे में जाने और उत्पादों की गुणवत्ता में सुधार लाएं। उन्होंने कहा कि मंत्रालय इस मेले का प्रचार प्रसार करेगा ताकि इस मेले में शामिल होने वाले सभी विक्रेताओं को बड़ी संख्या में लोगों के समक्ष अपने उत्पाद प्रदर्शित करने का अवसर मिल सके।

सरस आजीविका मेला 2021 का 26 फरवरी से 14 मार्च 2021 के बीच ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में 27 राज्यों से 300 से अधिक स्वयं सहायता समूह और हस्तशिल्पी भाग ले रहे हैं। इस मेले में लगभग 150 स्टॉल और 15 खानपान के स्टॉल लगाए गए हैं और 60 से अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इस मेले के दौरान उत्पादों की पैकेजिंग और डिजाइन, संचार संबंधी कुशलता, सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार और व्यापार से व्यापार के विपणन संबंधी प्रशिक्षण हेतु कार्यशाला का भी आयोजन किया जाएगा। इसमें ग्रामीण स्वयं सहायता समूहों और हस्तशिल्पियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इस मेले में सुबह 11:00 बजे से रात 8:00 बजे तक प्रतिदिन आम लोग शिरकत कर सकते हैं।

मेले के उद्घाटन अवसर पर राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान के महानिदेशक डॉ. जी नरेन्द्र कुमार, ग्रामीण विकास मंत्रालय में अपर सचिव श्रीमती अल्का उपाध्याय और ग्रामीण विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव श्री चरणजीत सिंह भी उपस्थित थे।

Related posts

वायुसेना प्रमुख हवाई में प्रशांत क्षेत्र के वायुसेना प्रमुखों की संगोष्‍ठी को संबोधित करेंगे

RPF के डीजी अरुण कुमार को मिला अंतरराष्ट्रीय सम्मान का पद

सरकार 25 दिसम्बर से 100 दिनों का सुशासन अभियान चलायेगी