सड़क एवं परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी उधमपुर में भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग के शुरू होने के साक्षी ब

Image default
देश-विदेश

नई दिल्ली: जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय मार्ग पर चेनानी से नाशरी के बीच भारत की सबसे लंबी सड़क सुरंग के निर्माण में महत्वपूर्ण उपलब्धि अर्जित हुई है। इस सुरंग को खोलने के लिए अंतिम विस्‍फोट किया गया था। इस घटना के गवाह स्‍वयं सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी बने। इस परियोजना के तहत लगभग 9.2 किलोमीटर लंबी सुरंग के साथ 300 मीटर के अंतराल पर 29 क्रॉस मार्ग पर समानांतर निकास सुरंग का निर्माण शामिल है। निकास सुरंग का निर्माण विशेष रूप से पैदल चलने वालों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। जम्मू-कश्मीर के उप मुख्यमंत्री डॉ निर्मल सिंह के साथ अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

इस अवसर पर श्री गडकरी ने कहा कि केन्द्र सरकार, राज्य को विकास और समृद्धि प्राप्त करने हर संभव मदद के लिए वचनबद्ध है। श्री गडकरी ने इस योजना की सफलता को मील का पत्थर मानते हुए कहा कि यह सुरंग अग्नि सुरक्षा और नियंत्रण सहित तैनात अत्याधुनिक सुविधाओं के राज्य के साथ सभी सुरक्षा मानकों को पूरा करती है।

यह सुरंग हर मौसम में सुरक्षा प्रदान करने के साथ-साथ जम्मू-श्रीनगर के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग पर यात्रियों के समय की भी बचत में सहायक होगी। यह सुरंग जम्मू-श्रीनगर के बीच लगभग 30 किलोमीटर दूरी भी कम करेगी।

साथ ही यह सुरंग पटनीटॉप क्षेत्र में पारिस्थितिकी और पुराने जंगलों के संरक्षण को सुरक्षित करेगा। श्री गडकरी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इस योजना ने जम्मू-कश्मीर के लगभग 2000 युवाओं को रोजगार प्रदान किया है। श्री गडकरी ने विशेष रूप से एनएचएआई और आईएल एंड एफएस ट्रांसपोर्टेशन नेटवर्क्स लिमिटेड के कर्मचारियों को इस महत्वाकांक्षी परियोजना में शामिल होने के लिए बधाई दी और कहा कि यह उनके समर्पित एवं थकाऊ प्रयासों के बिना संभव नहीं था। राज्य के अत्याधुनिक सुरंग परियोजना में विशिष्ट दूरी पर वाहनों को स्थानांतरित करने के साथ पार्किंग स्थल भी होंगे। चार लेन वाली यह परियोजना कश्मीर घाटी के लिए सभी मौसम के अनुकूल सड़क सुविधा सृजन की दृष्‍टि से महत्‍वपूर्ण होगी।

Related posts

राष्ट्रपति चेन्नई में मद्रास विश्वविद्यालय के 160वें दीक्षांत समारोह एवं गुरु नानक महाविद्यालय के 42वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए

अमित शाह के निर्देशानुसर दिल्ली के सभी कोविड अस्पतालों ने कोविड संक्रमण से अपनी जान गंवाने वाले लोगों के अंतिम संस्कार को गति दी

कानून और अधिनियम पारित किए जा चुके हैं, अब यह लोगों पर निर्भर है कि वे इस पर कार्य करें: डॉ. हर्ष वर्धन

Leave a Comment