राधा मोहन सिंह ने नेपाल के कृषि क्षेत्र में भारत की ओर से और अधिक सहायता दिए जाने का आश्‍वासन दिया

कृषि संबंधित देश-विदेश

नई दिल्ली: राधा मोहन सिंह ने नई दिल्‍ली में अपने नेपाली समकक्ष श्री चक्रपाणी खनल, कृषि, भू-प्रबंधन और सहकारिता मंत्री  से मुलाकात करके उन्‍हें नेपाल के कृषि क्षेत्र में भारत की ओर से और अधिक सहायता दिए जाने का आश्‍वासन दिया।

श्री सिंह ने कहा कि दोनों देश मुख्‍यत: कृषि प्रधान देश हैं और कृषि, दोनों पक्षों के बीच द्विपक्षीय सहयोग के लिए एक महत्‍वपूर्ण क्षेत्र है जिसके लिए भारत, नेपाल की सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है।

कृषि क्षेत्र में भारत – नेपाल की भागीदारी विषय पर आयोजित दोनों पक्षों की मंत्रालयीय बैठक में दोनों मंत्रियों ने कृषि क्षेत्र अर्थात कृषि अनुसंधान शिक्षा, उर्वरकों की आपूर्ति व्‍यवस्‍था, परस्‍पर निरीक्षण कार्य, परीक्षण, प्रमाणन पद्धति, व्‍यापार सुविधा उपाय, पशुपालन सेवा का सुदृढ़ीकरण, पशु चिकित्‍सा अनुसंधान एवं विकास सुविधा जैसे क्षेत्रों में परस्‍पर सहयोग को मजबूत करने के साथ-साथ भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) और नेपाल कृषि अनुसंधान परिषद (एनएआरसी) के बीच जानकारी के हस्‍तांतरण को बढ़ावा देने के बारे में वार्ता की।

केंद्रीय कृषि मंत्री ने प्रसन्‍नता अभिव्‍यक्‍त करते हुए कहा कि जैविक कृषि से संबंधित प्रायोगिक परियोजना और भारत द्वारा नेपाल में कार्यान्‍वयन हेतु जैविक कृषि और मृदा स्‍वास्‍थ्‍य प्रयोगिक परियोजना को भी अंतिम रूप दे दिया गया है।

श्री सिंह ने आगे कहा कि भारत को नेपाल में कृषि उत्‍पादकता को बढाने और किसानों के कल्‍याण का मार्ग प्रशस्‍त करने के लिए नई पहलों को कार्यान्‍वित करने में नेपाल के साथ अपने अनुभवों को साझा करते हुए प्रसन्‍नता होगी। नई पहलें अर्थात मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड, प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, ई-नाम, प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना जैसी पहलों से उपज के क्षेत्र में सकारात्‍मक परिणाम प्राप्‍त हुए हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री ने आशा व्‍यक्‍त की कि नेपाली शिष्‍टमंडल को भारत के कृषि क्षेत्र से संबंधित महत्‍वपूर्ण जानकारी प्राप्‍त हुई होगी जिसके फलस्‍वरूप नेपाल में कृषि और संबंधित क्षेत्रों में विशेष सुधार का मार्ग प्रशस्‍त करने में सहायता मिलेगी।

श्री चक्रपाणि खनल, कृषि भू-प्रबंधन और सहकारिता मंत्री, नेपाल   19-23 जून, 2018 के दौरान भारत की 5 दिवसीय यात्रा पर हैं। वे भारतीय कृषि अनुसंधान संस्‍थान, पूसा और राष्‍ट्रीय जैविक कृषि केंद्र, गाजियाबाद का भी दौरा करेंगे।

श्री खनल के आमंत्रण पर केंद्रीय कृषि मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह, कृषि क्षेत्र में नई भागीदारी विषयक अगली बैठक के लिए नेपाल का दौरा करेंगे। कृषि मंत्री ने भागीदारी को सफल बनाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया।

भारत और नेपाल के प्रधानमंत्रियों ने दोनों देशों के किसानों के लाभार्थ कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को बढाने के उद्देश्‍य से 7 अप्रैल,2018 को कृषि क्षेत्र में नई भागीदारी विषयक कार्यक्रम शुरू किया था।

Related posts

दिल्ली सरकार के कानून मंत्री जितेंद्र तोमर को फर्जी डिग्री के लिए केजरीवाल ने तलब किया

ट्रेड यूनियन के भारत बंद में ट्रेनों को रोका गया, बंगाल में दिखा असर

भारतीय राष्ट्रीय खेल विकास संहिता का मसौदा पुन: तैयार करने के लिए कार्य समूह का गठन