प्रोजेक्ट “बचपन” – समझौता ज्ञापन पर सिंगरौली जिला प्रशासन के साथ हस्ताक्षर किये गए

देश-विदेश

कोयला मंत्रालय के तहत कार्यरत एक मिनीरत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ समारोह के तहत अपने खनन कार्य वाले स्थानों के आसपास के क्षेत्रों में कुपोषण के खिलाफ अपनी मुहिम तेज़ कर दी है।

सिंगरौली में एनसीएल के आसपास और नजदीकी क्षेत्रों में बच्चों को पर्याप्त आहार उपलब्ध करवाकर बाल कुपोषण के खतरे को खत्म करने की प्रतिबद्धता के साथ एनसीएल और सिंगरौली जिला प्रशासन के बीच प्रोजेक्ट “बचपन” शुरू करने तथा इसे आगे बढ़ाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं।  इस सीएसआर परियोजना के तहत एनसीएल का दुधिचुआ क्षेत्र विभिन्न चरणों में 23 लाख रुपये से अधिक की राशि खर्च करेगा।

दुधिचुआ परियोजना एनसीएल के महाप्रबंधक श्री अनुराग कुमार और महिला एवं बाल विकास, सिंगरौली, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री राजेश राम गुप्ता ने इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। ने इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

इस समाज कल्याण कार्यक्रम के तहत मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले में विभिन्न आंगनवाड़ियों में सात पोषण केंद्रों के माध्यम से 260 से अधिक कुपोषित बच्चों की क्रमवार तरीके पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करके उन्हें कुपोषण मुक्त करने की मुहिम चलाई जाएगी। यह पहल कुपोषित बच्चों के अच्छे स्वास्थ्य एवं कल्याण को सुनिश्चित करेगी। इस अवसर पर सिंगरौली स्थित कोयला पीएसयू और जिला प्रशासन के  वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Related posts

राष्ट्रपति ने भारत छोड़ो दिवस की 77वीं वर्षगांठ के अवसर पर स्वतंत्रता सेनानियों के लिए ‘एट होम’ स्‍वागत समारोह की मेजबानी की

स्मार्ट ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट ही प्रदूषण समस्या का हल: विशाल गुप्ता

श्रीमती मेनका संजय गांधी ने वृंदावन में ‘एक हजार विधवाओं के आवास’ की परियोजना का शुभारम्भ किया