विद्युत मंत्री ने उत्तराखंड सरकार को 22.50 करोड़ रुपये का चेक भेंट किया

देश-विदेश

केंद्रीय विद्युत मंत्री श्री आर.के सिंह ने आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी की वर्चुअल उपस्थिति में उत्तराखंड आपदा प्रबंधन मंत्री श्री डी एस रावत को 22.5 करोड़ रुपये का चेक प्रदान किया।

श्री आर के सिंह ने उत्तराखंड राज्य को मदद देने के लिए विद्युत क्षेत्र के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (सीपीएसई) द्वारा की गई त्वरित कार्रवाई की सराहना की। उन्होंने इस संकट की घड़ी में विशेष रूप से उत्तराखंड की मदद करने के लिए केंद्र सरकार की मजबूत प्रतिबद्धता से अवगत कराया। उन्होंने जरूरत के समय लोगों की सहायता के लिए आगे आने के लिए पावर सीपीएसई की भी सराहना की, जैसा कि कोविड संकट के दौरान भी किया गया था।

श्री पुष्कर सिंह धामी ने विद्युत मंत्री के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया और संकट के समय में राज्य के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए सभी सीपीएसई को धन्यवाद दिया।

इस अवसर पर विद्युत राज्य मंत्री श्री कृष्ण पाल गुर्जर, सचिव विद्युत श्री आलोक कुमार और विद्युत सीपीएसयू के सीएमडी भी उपस्थित थे।

हाल ही में उत्तराखंड ने 17 और 18 अक्टूबर, 2021 को कुछ स्थानों पर असामान्य रूप से भारी वर्षा देखी, जिसके परिणामस्वरूप कई जिलों में जानमाल का नुकसान हुआ और बुनियादी ढांचे और सार्वजनिक उपयोगिताओं को गंभीर नुकसान हुआ। बिजली क्षेत्र के सीपीएसई ने बाढ़ प्रभावित उत्तराखंड में बहाली कार्यों के लिए एकजुट होने की अपनी प्रतिबद्धता में, उत्तर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (यूएसडीएमए) को 22,50,00,000/- रुपये (बाईस करोड़ पचास लाख रुपये) की राशि का योगदान दिया। यह कार्यक्रम बिजली सचिव, सभी बिजली क्षेत्र के सीपीएसई के सीएमडी और बिजली मंत्रालय के प्रमुख अधिकारियों की उपस्थिति में आयोजित किया गया था। निम्नलिखित सीपीएसईज़ ने उत्तराखंड में किए जाने वाले विकास कार्यों के लिए अपनी एकजुटता और समर्थन दिखाते हुए यूएसडीएमए में योगदान दिया:

सीपीएससी मदद (रूपए में)
एनटीपीसी 8 करोड़
आरईसी 5 करोड़
पीएफसी 4 करोड़
पीजीसीआईएल 3.5 करोड़
एनएचपीसी 1 करोड़
टीएचडीसी 50 लाख
एसजेवीएन 50 लाख
कुल 22.50 करोड़

परियोजना के तहत उत्तराखंड के 8 जिलों (1. बागेश्वर, 2. नैनीताल, 3. ऊधम सिंह नगर, 4. पौड़ी, 5. चमोली, 6. अल्मोड़ा, 7. चंपावत, और 8. पिथौरागढ़) में पुनर्निर्माण/ बहाली कार्य गतिविधियां होंगी और 5 जिलों- (1. अल्मोड़ा, 2. चंपावत, 3 ऊधम सिंह नगर, 4 नैनीताल, और 5. पिथौरागढ़) में 28 स्वास्थ्य केंद्र तैयार किए जाएंगे। परियोजना को यूएसडीएमए द्वारा सीएसआर के तहत विद्युत क्षेत्र के सीपीएसई द्वारा प्रदान की गई वित्तीय सहायता से पूरा किया जाएगा।

Related posts

दिल्ली में 24 घंटे स्वच्छ पानी की आपूर्ति कराना लक्ष्य: सीएम अरविंद केजरीवाल

रेल मंत्रालय ने राज्‍य सरकारों से श्रमिक ट्रेनों के बारे में योजना और तालमेल बढ़ाने का अनुरोध किया

सुप्रीम कोर्ट ने भारत सरकार को चाइल्ड पोर्नो साइटों पर रोक लगाने को कहा