नैनवाग में देवांशी यमुना घाटी खेल एवं सांस्कृतिक मेले के समापन के अवसर पर नसमुदाय को सम्बोधित करते हुये: मुख्यमंत्री – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Home » उत्तराखंड » नैनवाग में देवांशी यमुना घाटी खेल एवं सांस्कृतिक मेले के समापन के अवसर पर नसमुदाय को सम्बोधित करते हुये: मुख्यमंत्री

नैनवाग में देवांशी यमुना घाटी खेल एवं सांस्कृतिक मेले के समापन के अवसर पर नसमुदाय को सम्बोधित करते हुये: मुख्यमंत्री

नई टिहरी/देहरादून: मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शनिवार को अपरान्ह में धनोल्टी विधान सभा  क्षेत्र के  अन्र्तगत  स्व0 सरदार सिंह इन्टर कालेज प्रांगण में तीन दिवसीय देवांशी यमुना घाटी खेल एवं सांस्कृतिक मेले के समापन के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुये क्षेत्र के विकास से सम्बंधित अनेक घोषणायें की जिनमें मसरास-थुरेटी मोटर मार्ग की स्वीकृति के साथ ही नैनवाग में आई.टी. आई के लिये इसी वर्ष भवन निर्माण किये जाने की घोषणा की।  इसके अलावा उन्होंने कहा कि नैनवाग में पुलिस चैकी एवं पाॅलीटेक्नीक की स्थापना हेतु जांच के उपरान्त कार्यवाही की जायेगी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि उत्तराखण्ड़ की संस्कृति को जीवित रखने के लिये सरकार शीघ्र गढ़वाल मंड़ल के ऋषिकेश में और कुमायू क्षेत्र के जागेश्वर में सांस्कृतिक मेलों का आयोजन करने जारही है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने क्षेत्र  के नन्दलाल भारती सांस्कृतिक दल को 1 लाख रू0 की धनराशि देकर  सम्मनित किया, वहीं मुख्यमंत्री में तीन दिवसीय क्रीडा समारोह में विजयी प्रतिभागियोां को भी पुरूष्कार वितरित किये।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यमुनाघाटी से जुड़े सभी 6 विकास खण्ड़ों के लोगों द्वारा अपनी संस्कृति बचाने के लिये जो कार्य किये जारहे हैं वह प्रशंसनीय है। श्री रावत ने कहा कि चाराधाम यात्रियाों को चैलाई के लड्डू प्रसाद के रूप में दिया जायेगा जिससे यहा के किसानों की आर्थिकी में सुधार आयेगा। उन्होंने पर्यावरण की सुरक्षा के साथ जलसंचय योजना के लिये जन सहभागिता को आवश्यक बतायी। उन्होंने कहा सरकार चारा पत्ती के पेड़ लगाने पर तीन बर्ष में  तीन सौ रू0 तथा अखरोट के पेड लगाने पर तीन साल वाद चार सौ स्0 बोनस के रूप सरकार देगी। गाय गंगा योजना के तहत दुग्ध डेरी से जुड़े महिलाओं को 6 रू0 प्रति लीटर अतिरिक्त बोनस दिया जायेगा।
        श्री रावत ने कहा कि सरकार ने  पर्वतीय क्षेत्र के शिल्पियों को प्रोत्साहन हेतु एक हजार रू0 प्रति माह पेन्शन देने जारी हैं उन्होंने कहा कि 60 बर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिये आगनवाडी के माध्यम से धर पर ही भोजन की सुविधा प्रदान की जायेगी।  उन्होंने कहा कि बेटियों हेतु अनेक योजनाये संचालित की गई हैं उन्होंने कहा पी0आर0डी0 और होमगार्द में पहले 6 प्रतिशत महिलायें होती थी जिनकी संख्या बढाकर अब 25 प्रतिशत कर दिया गया उन्होंने जानवरों से फसल की सुरक्षा हेतु बन्दर वाडे व सुरक्षा दिवार बनाने की भी बात कही।  कता है।
           इस अवसर पर  शहरी विकास मंत्री प्रीतम पंवार, मा. मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार रणजीत रावत,  देहरादून के मेयर विनोद चमोली,पूर्व मंत्री खजानदास, विधायक पुरोला मालचन्द सहित क्षेत्र के गणमान्य नागरिक व भारी जनसमूह  मौजूद था।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.