मसूरी विन्टरलाईन कार्निवाल 2015 का विधिवत् उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत

उत्तराखंड
देहरादून : मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मसूरी विन्टरलाईन कार्निवाल 2015 का विधिवत् उद्घाटन किया। इस अवसर पर विभिन्न राज्यों से आए कलाकारों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ भी दी। मुख्यमंत्री श्री रावत के समक्ष कई बच्चों ने भी

अपनी कला का प्रदर्शन किया। कार्निवाल के उद्घाटन से पहले उन्होंने उत्तराखण्ड में ऐयरोस्पोर्ट की शुरूवात करते हुये मसूरी स्थित जाॅर्ज एवरेस्ट पीक (हाथीपाँव) में हाॅट एयर बलून का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने मसूरी में म्यूजिकल फाउन्टेन व म्यूरल झूलाघर का लोकार्पण सहित लाईब्रेरी चैक विस्तारीकरण व टू व्हीलर पार्किंग कार्य का शिलान्यास सहित स्थानीय सड़कों का शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कार्निवाल का उद्घाटन करते हुये मसूरीवासियों एवं इस कार्निवाल के आयोजकों को बधाई दी और कहा कि मसूरी में जाॅर्ज एवरेस्ट पीक को म्यूजियम के तौर पर विकसित किया जायेगा। मसूरी विन्टरलाईन कार्निवाल में इस साल से हाॅट एयर बलून जैसा एयरोस्पोर्ट जुड़ गया है और हमारी कोशिश है कि यहाँ एक म्यूजियम भी विकसित सके जिसमें हिमालय व एवरेस्ट से जुड़े तथ्यों को संजोया जा सके। पर्यटकों को उत्तराखण्ड की ओर आकर्षित करने में हम लोग कामयाब रहे हैं। 10 लाख से अधिक तीर्थ यात्रियों ने चारधामों की यात्रा कर यह साबित कर दिया है कि हमने आपदा के बाद केदारनाथ को पुन स्थापित करने में सफलता पाई है। अब पर्यटन को विकसित करने के लिये हमारी सरकार कार्य कर रही है। हिमालय दर्शन योजना के अंतर्गत युवाओं के लिये अगले वर्ष शुल्क में 25 प्रतिशत की और कटौती की जायेगी जिससे ज्यादा से ज्यादा युवाओं को हिमालय व उसकी सुन्दरता को नजारा करा सके। राज्य की सरकार कोशिश कर रही है कि टिहरी झील को पर्यटन हब बनाया जाये इसके लिये हम टिहरी झील में सी-प्लेन उतारने की कोशिश कर रहे हैं। मसूरी की तर्ज पर नैनीताल में भी इस वर्ष से विन्टर कार्निवाल की शुरूवात हो गयी है। जिससे पर्यटकों को यहाँ आने के लिये आकर्षित किया जा सकेगा। उत्तराखण्ड में नैसर्गिक सुन्दरता की कमी नहीं है किन्तु अभी उसका सही प्रकार से प्रचार-प्रसार नहीं हो पाया है। उसके प्रचार-प्रसार के प्रयास किये जाने चाहिए। उत्तराखण्ड में ऐरास्पोर्ट््स की शुरूवात होने से यह पर्यटन के क्षेत्र में भी दुनिया के नक्शे में आ जायेगा। राफ्ंिटग भी हमारा एक हथियार हो सकता है, इसके लिये पंचेश्वर से जौलजीवी तक राफ्टिंग की शुरूवात हो गयी है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये हमें अपनी विशेषताओं को प्रदर्शित करने की आवश्यकता है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने सीएम फाॅर यूथ कार्यक्रम में वहाँ पर उपस्थित युवाओं और विद्यार्थियों से भी बातचीत की साथ ही उनके द्वारा पूछे गये सवालों के भी जवाब दिये। विद्यार्थियों द्वारा जब बताया गया कि मसूरी के पास एक स्कूल में 30-40 छात्र होने के बावजूद एक ही शिक्षक है तो मुख्यमंत्री श्री रावत ने जिलाधिकारी को स्कूल में दो अन्य शिक्षक शीघ्र नियुक्त किये जाने के लिये निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि राज्य में जल्दी ही 500 माॅडल स्कूल खोले जायेंगे। जिनमें 300 जूनियर लेवल के और 200 प्राईमरी लेवल के होंगे।

Related posts

मर रहे हैं उत्तराखंड के लोग और सरकार इमरजेंसी किट के कवर बदलने में लगी-गिरीश डालाकोटी

कासपर्स्की ने लॉन्च किया कंज्यूमर सिक्योरिटी सॉल्यूशंस का नया वर्जन, साथ में आपको मिल सकता है फरारी की फैक्ट्री देखने का मौका

भगवानपुर में राजा विजय सिंह एवं सेनापति कल्याण सिंह के बलिदान दिवस पर संबोधित करते हुएः सीएम

Leave a Comment