पूरे देश में महीने भर चलने वाला स्वच्छ भारत अभियान जोरों पर

देश-विदेश

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत ऐतिहासिक एवं प्रसिद्ध स्थलों और साथ ही धार्मिक स्थानों और उनके आसपास के इलाकों सहित देश भर में स्वच्छ भारत अभियान चला रहा है। मंत्रालय ने स्वच्छ भारत अभियान के लिए 25 से अधिक प्रसिद्ध विरासत स्थलों की पहचान की है, जहां नेहरु युवा केंद्र संगठन (एनवाईकेएस) और राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के स्वयंसेवक पर्यटन स्थलों के आसपास स्वच्छता बनाए रखने का संदेश देने के लिए स्वच्छता अभियान चला रहे हैं।

स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत, गुवाहाटी के कामाख्या मंदिर, गया के महाबोधि मंदिर, अहमदाबाद के साबरमती आश्रम, जम्मू के अमर महल पैलेस, कर्नाटक के हम्पी, मध्य प्रदेश के खजुराहो, ओडिशा के पुरी मंदिर, मदुरै का मीनाक्षी मंदिर, अमृतसर का स्वर्ण मंदिर/जलियांवाला बाग, लखनऊ का रूमी दरवाजा और हरिद्वार का हर की पौड़ी आदि जैसे प्रसिद्धि स्थलों पर स्वच्छ भारत अभियान कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।

इसी क्रम में, एनवाईकेएस और एनएसएस ने मंगलवार को हैदराबाद के गोलकुंडा किले में स्वच्छ भारत अभियान चलाया।

(हैदराबाद के गोलकुंडा किले में स्वच्छता अभियान)

इस अवसर पर एनएसएस के युवा सहायक श्री के सी रेड्डी ने कहा कि इस अभियान के माध्यम से “हम न केवल स्वच्छ भारत अभियान का आयोजन कर रहे हैं बल्कि स्वच्छ और स्वस्थ परिवेश के बारे में जागरूकता भी पैदा कर रहे हैं।” उन्होंने कहा कि इस महीने के अंत तक तेलंगाना के जिलों में स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत विभिन्न गतिविधियां चलाई जाएंगी। इस अभियान के तहत, एनवाईकेएस, एनएसएस के स्वयंसेवकों ने गोलकुंडा किले से लगे इलाकों से सिंगल यूज प्लास्टिक सहित लगभग 285 किलोग्राम कचरा एकत्र किया। स्थानीय लोगों को स्वच्छता के लाभों के बारे में जागरूक किया गया और उन्हें सिंगल यूज प्लास्टिक से बचने तथा उनका उचित निपटान करने की सलाह दी गई। हैदराबाद में एनवाईकेएस की जिला समन्वयक सुश्री खुशबू गुप्ता, एनवाईकेएस के युवा सहायक श्री के सी रेड्डी तथा एनवाईकेएस, एनएसएस एवं अन्य संघों के लगभग 100 स्वयंसेवकों ने इस स्वच्छ भारत कार्यक्रम में भाग लिया।

(मदुरै के मीनाक्षी मंदिर में स्वच्छता अभियान)

धार्मिक स्थलों के आसपास भी सफाई अभियान चलाए जा रहे हैं, खासकर उन जगहों पर जहां बड़ी संख्या में लोग आते हैं। मदुरै कामराज विश्वविद्यालय के 100 एनएसएस स्वयंसेवकों ने मदुरै में मीनाक्षी मंदिर परिसर में स्वच्छ भारत अभियान में भाग लिया और जनता में जागरूकता पैदा की।

(मांड्या के मंदिरों में स्वच्छता अभियान)

इसके साथ कर्नाटक में मांड्या जिले के मंदिरों और उसके आसपास भी स्वच्छ भारत अभियान का आयोजन किया गया।

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय (भारत सरकार) का युवा कार्यक्रम विभाग आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में एक अक्टूबर 2021 से 31 अक्टूबर 2021 तक अपने संबद्ध युवा स्वयंसेवी संगठनों की मदद से राष्ट्रव्यापी स्वच्छ भारत कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। इन संगठनों में एनवाईकेएस, एनएसएस, युवा क्लब आदि शामिल हैं। स्वच्छ भारत केवल एक कार्यक्रम नहीं है बल्कि यह आम आदमी की वास्तविक चिंताओं और इस समस्या को हल करने के संकल्प को दर्शाता है।

Related posts

गोद लेने वाली एजेंसियों की कार्य प्रदर्शन के आधार पर श्रेणी, रैंक तय की जाएगी और उन्‍हें पुरस्‍कृत किया जाएगा : डॉ. वीरेन्‍द्र कुमार

ग्लोबल इंवेस्टर मीट से गढ़ने जा रहे हैं हम नया ब्रांड हिमाचल: अनुराग सिंह ठाकुर

दिव्‍यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 को लागू करने में चुनौतियों पर राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी आयोजित