म.प्र. ऊंचाइयों को छुए, केंद्र सरकार हर कदम पर साथ: श्री तोमर

कृषि संबंधित देश-विदेश

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि मध्य प्रदेश तेजी से विकास की दिशा तय कर रहा है और हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है, यही कारण है कि 2023 की ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में देश के जाने-माने उद्योगपतियों ने शिरकत की है, साथ ही दुनिया के 84 देशों के प्रतिनिधियों ने भी इसमें हिस्सा लिया, यह हम सब के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि म.प्र. का नागरिक और केंद्र का मंत्री होने के नाते मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं कि म.प्र. के पीछे केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का नेतृत्व खड़ा हुआ है। म.प्र. ऊंचाइयों को छुए, इस प्रयास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। श्री तोमर ने यह बात आज इंदौर में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट- 2023 के समापन समारोह में कही।

श्री तोमर ने कहा कि एक समय था जब म.प्र. में कुछ ही कारखाने और कुछ उद्योगपति हुआ करते थे। वर्ष 2003 के पहले औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाला व्यक्ति यह मानने लगा था कि अगर आगे काम करना है तो दूसरे राज्य में जाना होगा। श्री शिवराज सिंह चौहान ने जबसे कामकाज संभाला, एक मजबूत संकल्प के साथ आगे बढऩा शुरू किया। गरीबों के जीवन स्तर में बदलाव आए, इसे अनदेखा नहीं होने दिया। प्रदेश इंडस्ट्री के क्षेत्र में आगे बढ़े, एग्रीकल्चर ग्रोथ हो और हर क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाएं, इसमें भी सरकार लगी रही है। उनके प्रयत्नों का परिणाम यह हुआ कि प्रदेश में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट प्रारंभ हुई और आज म.प्र. में आमूलचूल परिवर्तन आया है, फिर वह रोड कनेक्टिविटी हो, रेल कनेक्टिविटी या एयर कनेक्टिविटी। कृषि के क्षेत्र में तो अद्भुत काम हुआ है। कृषि के क्षेत्र में कृषि कर्मण अवार्ड लगातार सात बार कभी किसी राज्य को नहीं मिला, म.प्र. ने यह अर्जित किया है। इसके अलावा गरीबों को आवास देने का काम हो, सड़कों के विस्तार की बात हो, डिजिटल एक्टिविटी, एग्री इन्फ्रास्ट्रक्चर आदि के मामलों में म.प्र. प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाला राज्य बन गया है। देश की जीडीपी में भी म.प्र. का बहुत बड़ा योगदान होता है। प्रधानमंत्री श्री मोदी का नेतृत्व देश को आगे बढ़ाने का सफल प्रयास कर रहा है। उनके साथ श्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार प्रदेश में निरंतर गति से काम कर रही है। उन्होंने इस मौके पर उद्योगपतियों का आह्वान करते हुए कहा कि प्रदेश में निवेश करिए, कोई शिकायत नहीं आने दी जाएगी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस सफलता के पीछे वे अकेले नहीं हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी का मार्गदर्शन, विजनरी लीडरशिप और केंद्रीय मंत्रियों का सहयोग भी है। जब-जब जरूरत पड़ी, कदम से कदम मिलाकर साथ चले है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में आज विदाई की बेला है। इंदौर से निवेश का नया दौर शुरू हो रहा है। म.प्र  ऐसा राज्य है, जो अंगुली पकड़ता नहीं और पकड़ता है तो छोड़ता नहीं। हमने आपको प्रेम के बंधन में बाधा है। जिस आत्मीयता से और प्रेम से दुनिया के 84 देशों के लोग मिले, ऐसा लगा कि पूरी दुनिया इंदौर में सिमट आई हो। अदभुत प्यार है। यही भारत के संस्कार भी हैं। हमारे प्रधानमंत्री ने जी-20 के लिए भी वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया है। अपने जैसा सबको माने। सब अपने जैसे यानि अपने ही हैं। कोई किसी देश का हो हम एक हैं, पूरा विश्व एक परिवार है। भारत का कहना है जिओ और जीने दो। विश्व का कल्याण हो। हमने बच्चों-बच्चों को यही सिखाया है। कभी केवल भारत के कल्याण की कामना नहीं की। जी-20 का आयोजन भारत की अध्यक्षता में हो रहा है। यह विश्व के कल्याण का रास्ता तैयार करेगा।

कार्यक्रम को केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और डॉ. वीरेंद्र कुमार ने भी संबोधित किया। इस मौके पर केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते, म.प्र. के उद्योग मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह आदि मौजूद थे।

Related posts

मुंबई में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 16579, आज 998 मामले आए सामने व 25 मरीजों की हुई मौत

भारत में बिजली का भविष्य इसके सस्तेपन, टिकाऊपन और ऊर्जा सुरक्षा के स्तंभों पर टिका है

इंडिया@75 बीआरओ मोटरसाइकिल अभियान दल दूसरे चरण में जम्मू पहुंचा