सरकार साइकिल ट्रैक को विकास योजनाओं में शामिल करने हेतु प्रयासरत: मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: 01 मार्च, 2015, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि सरकार साइकिल ट्रैक को विकास योजनाओं में शामिल करने का प्रयास कर रही है। स्वास्थ्य एवं स्वच्छ पर्यावरण के सरोकारों के मद्देनजर साइकिल आवागमन का बेहतरीन साधन है। इसकी उपयोगिता को देखते हुए राज्य सरकार साइकिल चालन को बढ़ावा देने के लिए जरूरी उपाय कर रही है।

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में निर्मित 4.56 कि.मी. साइकिल ट्रैक का लोकार्पण करने के पश्चात् अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। साइकिल ट्रैक का 2.24 कि.मी. भाग विक्रमादित्य मार्ग पर, 0.73 कि.मी. कालिदास मार्ग पर, 0.88 कि.मी. लोहिया पथ से लामार्टीनियर स्कूल तक तथा 0.71 कि.मी. विक्रमादित्य मार्ग से लामार्टीनियर स्कूल तक बनाया गया है। साइकिल ट्रैक पर प्रति कि.मी. 40 लाख रूपए की लागत आई है।
श्री यादव ने कहा कि आधुनिक समय में साइकिल की उपयोगिता हर तरफ महसूस की जा रही है। समावेशी विकास पर काम करने वाले विशेषज्ञ भी विकास योजनाओं में साइकिल ट्रैक की योजना किए जाने की सिफारिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों के लोग अमीर, गरीब, किसान, मजदूर, नौजवान, छात्र-छात्राएं साइकिल का प्रयोग करते हैं। हजारों लोग प्रतिदिन लखनऊ साइकिल से आते हैं। बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं साइकिल से स्कूल आते-जाते हैं। बहुत से लोग केवल बेहतर स्वास्थ्य के लिए साइकिल चलाना पसंद करते हैं। साइकिल से प्रदूषण भी नहीं होता है। उन्होंने कहा कि सुरक्षित और बेहतर साइकिल ट्रैक उपलब्ध होने पर लोग साइकिल चालन के प्रति आकर्षित होंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यद्यपि सभी मार्गों पर स्थान की कमी की वजह से साइकिल ट्रैक बनाना सम्भव नहीं है, किन्तु जहां पर सड़कें चैड़ी हैं, वहां पर इसे बनाया जाना चाहिए। राज्य सरकार फिलहाल लखनऊ और आगरा शहर में साइकिल टैªक बनवा रही है। लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में भी साइकिल टैªक बनाया जा रहा है।
साइकिल ट्रैक बनाने वाले इंजीनियरों को बधाई देते हुए श्री यादव ने कहा कि प्राप्त सुझावों को सम्मिलित करते हुए बेहतर काम किया गया है। टैªक के निर्माण के दौरान पेड़ों को कम से कम नुकसान पहुंचाया गया है। मुख्यमंत्री ने ट्रैक के निर्माण से जुड़े उपस्थित इंजीनियरों के साथ गु्रप फोटोग्राफ भी खिंचवाया।
लोक निर्माण मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि साइकिल चलाने से केवल स्वास्थ्य ही बेहतर नहीं रहता, बल्कि पर्यावरण को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। इसमें डीजल या पेट्रोल की कोई खपत न होने के कारण बचत होती है और इस पर महंगाई का कोई असर भी नहीं पड़ता। उन्होंने भरोसा जताया कि साइकिल टैªक लखनऊवासियों के लिए बहुत लाभदायक साबित होगा।
इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री श्री अभिषेक मिश्रा, प्रमुख सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री के.एस. अटोरिया सहित लोक निर्माण विभाग के वरिष्ठ अधिकारी व अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

Related posts

भूगर्भ जल में बढ़ोत्तरी, सिंचाई के लिए उपयोगी सिद्ध हुई है ‘‘खेत तालाब योजना‘‘

भू-जल संरक्षण, संवर्धन के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रो में रोजगार मुहैया करायेगा अमृत सरोवर

उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चैधरी द्वारा एक्सप्रेस-वे पर परिक्रमा वृतान्त

Leave a Comment