उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त, अपराधियों पर लगी लगाम – Online Latest News Hindi News , Bollywood News
Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त, अपराधियों पर लगी लगाम

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त, अपराधियों पर लगी लगाम

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ कर जनमानस में सुरक्षा की भावना पैदा करना और अपराधियों के अन्दर कानून के भय का वातावरण व्याप्त करना उत्तर प्रदेश सरकार की प्रमुख नीति है। इसके कारण लोगों में सुरक्षा की भावना का व्यापक संचार हुआ है। वैश्विक आतंकवाद, नक्सलवाद के इस दौर में प्रदेश पुलिस को विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। विषम परिस्थितियों में भी प्रदेश पुलिस नेे अपने सीमित संसाधनों, कठोर परिश्रम, अनुशासन एवं कर्तव्यनिष्ठा से नक्सलियों, आतंकवादियो, असामाजिक एव समाज विरोधी तत्वों की गतिविधियों पर सतत् प्रभावी नियंत्रण कायम रखा है।

प्रदेश की जनता को एक सुरक्षित परिवेश प्रदान कर साम्प्रदायिक एवं जातिगत सौहार्द्र्र कायम रखा गया हैं। सम्पूर्ण प्रदेश दंगा मुक्त रहा है। संगठित एवं पेशेवर अपराधियों के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही से अपराधियों ने अपनी जमानत तुड़वाकर जेल का रूख किया है। अपराधों पर पूर्ण नियन्त्रण से प्रदेश में विकास का माहौल बना है। कानून व्यवस्था सुदृढ़ हुई है, सभी प्रमुख त्यौहार, मेले आदि सकुशल सम्पन्न हुए हैं। सोशल मीडिया की सक्रियता से भी अपराधों पर नियंत्रण लगा है तथा पुलिस की छवि उज्जवल हुई है।

उत्तर प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की अपराधियों के विरूद्ध जीरो टालरेन्स की नीति के तहत प्रदेश पुलिस की प्रभावी एवं त्वरित कार्यवाही का ही परिणाम है कि प्रदेश में 20 मार्च 2017 से 15 मई 2019 तक कुल 15,170 अपराधी न्यायालय में आत्मसमर्पण कर अथवा स्वयं जमानत निरस्त कराकर जेल चले गये है। पुलिस व्यवस्था के विभिन्न पहलुओं का अध्ययन कर उसमें सुधार के सुझाव देने एवं पुलिस के आधुनिकीकरण एवं सुदृढीकरण हेतु शासन द्वारा उत्तर प्रदेश पुलिस आधुनिकीकरण एवं सुदृढीकरण आयोग का गठन किया गया है।

वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 27 मई 2019 तक पुलिस व अपराधियों के बीच विभिन्न अवसरों पर कुल 3896 मुठभेड़ हुई जिससे 8904 अपराधी गिरफ्तार किये गये, 1154 घायल हुए, 76 अपराधी पुलिस की आत्मरक्षार्थ कार्यवाही में मारे गये। पुलिस कार्यवाही के दौरान उक्त अवधि से 05 जवान अदभुत शौर्य का प्रदर्शन करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए तथा 642 पुलिसकर्मी घायल हुए। एन०एस0ए0 में 406 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही कीे गई है। जून 2017, से मई 2019 तक प्रदेश पुलिस द्वारा फूट पेट्रोलिंग से 1,51,74,034 संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग करते हुए 4,33,383 व्यक्तियों को हिरासत में लेकर 1,69,837 अभियोग पंजीकृत कराये गये तथा संलिप्त 232404 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है।

संगठित अपराध के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की प्रतिबद्धता के क्रम में सरकार द्वारा यूपीकोका (उत्तर प्रदेश कन्ट्रोल आॅफ आर्गनाइज्ड क्राइम) बिल विधान मण्डल के दोनों सदनों से पारित कराया गया तथा भारत सरकार को अनुमोदनार्थ प्रेषित किया गया। वर्ष 2018 मे विगत वर्षों की तुलना में साम्प्रदायिक/तनाव की घटनाओं में 66 प्रतिशत जातिगत तनाव संघर्ष की घटनाओं में 60 प्रतिशत तथा की धर्म परिवर्तन की घटनाओं में लगभग 45 प्रतिशत की कमी आयी है। दिनांक 16.03.2017 से 15.05.2019 तक में वर्ष 2018/17/16 के सापेक्ष वर्ष 2019/18/17 में प्रदेश में डकैती में 25.29 प्रतिशत लूट में 15.24 प्रतिशत, हत्या में 8.42 प्रतिशत रोड-होल्डप में 100 प्रतिशत फिरौती हेतु अपहरण में 10.75 प्रतिशत, बलात्कार की घटनाओं में भी कमी आयी है। अपराधों को शत-प्रतिशत दर्ज करने के लिए जनपदों को सख्त निर्दश दिय गये है तथा इस उद्देश्य से पहली वार पुलिस अधीक्षक के कार्यालय में एफ0आई0आर0 काउण्टर खोले गये हैं। दिनांक 01.01.2019 से 30.04.2019 तक प्रदेश पुलिस द्वारा 1813 दो पहिया व 233 चार पहिया वाहन एवं 54 भारी वाहन बरामद करने में सफलता प्राप्त की गयी है।

प्रदेश पुलिस की सक्रियता कें फलस्वरूप दिनाक 01.01.19 से 15.05.2019 तक 48 अभियुक्तों का गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 14 अपहृतों को सकुशल मुक्त कराने में सफलता प्राप्त की गयी है। प्रदेश पुलिस द्वारा वर्ष 2018 में 19 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 24 लाख 62 हजार रूपये की भारतीय जाली मुद्रा प्राप्त करने में सफलता प्राप्त की गयी।

प्रदेश पुलिस नक्सलवादी/माओवादी गतिविधियों पर समुचित ढंग से नियन्त्रण पाने में सफल रही हैं। नक्सली घटनाओँ के नियन्त्रण हेतु पड़ोसी राज्यों बिहार, झारखण्ड, छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश से सामन्जस्य बनाया गया है। माओवादी गतिविधियों पर प्रदेश पुलिस द्वारा पर्याप्त नियन्त्रण रखते हुए सीमावर्ती देश नेपाल में माओवादी गतिविधियों पर कडी एवं पैनी नजर रखी जा रही है। कावड़ यात्रा, बकरीद, दुर्गापूजा एवं दशहरा, मोहर्रम, दीपावलीं, बारावफात, चेहल्लुम, अयोध्या में आयोजित धर्मसभा इत्यादि त्योहार एव धार्मिक कार्यकम प्रदेश पुलिस की अचूक सुरक्षा व्यवस्था से अभूतपूर्व शान्तिपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुये। प्रदेश में सामाजिक समरसता के प्रतीक महत्वपूर्ण मेलों यथा प्रयागराज कुम्भ, नौचन्दी मेला मेरठ, गढ मुक्त्तेश्वर मेला गाजियाबाद कार्तिक पूर्णिमा मेला, अयोध्या तथा तिवारी मेला अमरोहा सुदृढ पुलिस व्यवस्था एवं व्यापक प्रबन्ध के फलस्वरूप शान्ति एवं सौहार्द पूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुये।

दिनांक 16.03.17 से 15.05.19 तक की अवधि में विगत पुलिस द्वारा अवैध आग्नेयास्त्र के विरूद्ध कृत कार्यवाही में फैक्ट्री निर्मित बन्दूक 276, पिस्टल 257, रिवाल्वर 145, रायफल 176 एके 47/56-03 एस0एल0आर-02 स्टेन/कार्बाइन-05, हैण्ड ग्रेनेड-04  बम-8 टीएमसी-03 कारतूस 82153 व डेटोनेटर 9965 एवं देशी निर्मित बन्दूक 448, पिस्टल 42390 रिवाल्वर 1755 रायफल 344 स्टेनगन/कार्बाइन 10, कारतूस 460 बम 2935 टीएमसी-07 व शस्त्र फैक्ट्री 558 बरामद करते हुए अपराधियों , अभियुक्तों के विरूद्ध कड़ी वैधानिक कार्यवाही की गई है।

उ0प्र0 न्यूज फिचर्स एजेन्सी

About admin