कर्णप्रयाग प्रखण्ड के 72 वीं वर्षगांठ की रामलीला के शुभ अवसर पर विधायक डा0 अनुसूया प्रसाद मैखुरी द्वारा रामलीला का शुभारंभ किया

Image default
उत्तराखंड
कर्णप्रयाग: कर्णप्रयाग प्रखण्ड के नैणी ( चांदपूर) में श्री नंदादेवी रामलीला मंडली द्वारा आयोजित अनुवर्तीय इस वर्ष की 72 वीं वर्षगांठ की रामलीला के शुभ अवसर पर क्षेत्रीय विधायक/उपाध्यक्ष विधानसभा उत्तराखंड डा0 अनुसूया प्रसाद मैखुरी द्वारा सांयकाल 2 जून को द्वीप प्रज्जवलित कर पवन पुत्र हनुमान का उच्चारण कर हनुमान चालीसा का पाठ एवं आरती के साथ इष्ट पूजन के रूप में राम के आदर्शों का वर्णन करते हूयेपांडाल में रामलीला का शुभारंभ कराया गया।

उन्होनें बताया कि यह बडे सोभाग्य की बात है कि मैं बद्री विशाल के दर्शन के उपरान्त मर्यादा पुरुषोत्तम राम जो साक्षात विष्णु भगवान है उनकी अर्चना एवं प्रार्थना के रूप में आयोजित रामलीला के इस पवित्र मंच से सर्वप्रथम क्षेत्र की जनता एवं राम प्रेमियों को आभार एवं स्वागत करने का अवसर मिला है। उन्होनें कहा कि यह प्रभु राम का दरबार है उनका नाम लेने से ही संसार के प्राणियों के सम्पूर्ण कष्ट दूर हो जाते हैं। वे क्षेत्र की जनता के आह्वान को भूला नहीं पाये। वे अपने विधानसभा क्षेत्र के अन्तरर्गत महत्वपूर्ण गोष्ठियों, जनता दरबार एवं जन शिकायतों को त्वरित गति से निवारण के उदेश्य से वे दिनभर सिमली, सल्याणा, सीरी कोटि, जेंटा आदि ग्रामों की मूलभूत सुख सुविधाओं के अनुभव उपरान्त रात्रि 8ः00 बजे बगोली से नैणी (चांदपुर)  पहुंचे यहां पर उन्होनें गाँव के गणमान्य जनों का व्यक्तिगत रूप से आभार प्रकट किया और प्रशन्नचित मुद्रा में उन्होनें की गांव की उजागर समस्यायें सुनी व उनके निदान का स्वरूप भी बताते हूये क्षेत्रीय जनता का सम्मान एवं प्यार को समेटते हूये वे रात्रि 9ः00 बजे प्रवास हेतू कर्णप्रयाग की ओर प्रस्थान कर गये।
 यहां पर यह उल्लेखनीय है कि नैणी रामलीला सदैव श्रद्वा एवं आस्था के रूप में प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है। भक्त द्वारा जिस भाव से किसी मन्नत के लिये यहां पर प्रार्थना एवं संकल्प किया जाता है, उसकी वह मुराद अवश्य पूर्ण होती है। रामलीला के मंचन में हनुमान का पात्र सदैव अनुष्ठान में रहते हूये अभिनय करता है और रामलीला का शुभारंभ भी हनुमान पूजन  और वेद मंत्रों के द्वारा किया जाता है। गांव के वयोवृद्ध जनों द्वारा अवगत कराया गया कि यहां पर पांडाल की पवित्रता का सदैव विशेष ध्यान रखा जाता है।  हनुमान का अभिनय करने वाले 70 वर्षीय हरि प्रसाद गैरोला जी नें हनुमान की मुद्रा में डा0 अनुसूया प्रसाद मैखुरी एवं समस्त क्षेत्रीय जनता को भगवान हनुमान के साक्षात दर्शन करवाये।
भक्तों से खचाखच भरे पंडाल में सभी भक्तजन अपने दोनों हाथ जोड़े हुये हनुमान के भजनों में झूमते हुये देखे गये। हनुमान जी को अर्पित किये जाने वाले फल एवं बूंदी (मिठाई) उनके द्वारा ग्रहण करने पर इसका वितरण उपस्थित जनसमुदाय में कराया गया।
रामलीला  पंडाल से  सत्यप्रसाद कैलखुरा,  महानंद मैठाणी, गिरिजाप्रसाद कैलखुरा,  दिनेशचंद्र नैनवाल  टीका प्रसाद गैरोला,  महेशानंद गैरोला, सत्यप्रसाद नैनवाल, रामचन्द्र नैनवाल, गोविन्द प्रसाद नैनवाल, कुशलानंद गैरोला, हर्षवर्धन मैठाणी, सुधाकर मैठाणी,  सर्वेश्वरानंद, दिगम्बर प्रसाद कैलखुरा, उद्धव नैनवाल, शरणागत, संदीप,विजय ,अशोक,हितेश,सुनील, सुशील, सुमन ,अनूप, शैलेश चन्द्र, पंकज, आशीष, विपुल, अखिलेश  आदि ने अपने विचार रखे। गांव की महिलामंगल दल ने भी अपने क्षेत्रीय विधायक को अपनी मूलभूत समस्याओं से अवगत कराया।

Related posts

महिलाओं व किशोरियों को तीलू रौतेली पुरस्कार से सम्मानित कर सम्बोधित करते हुएः सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

मुख्यमंत्री हरीश रावत से भेंट करते हुए राज्यमंत्री सुशील राठी के नेतृत्व में आंगनवाड़ी कार्यकत्री/मिनी कर्मचारी संगठन का प्रतिनिधिमंडल

पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी ने सूचना महानिदेशक दीपेंन्द्र कुमार चैधरी के आवास पर जाकर उनकी माता जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए

Leave a Comment