व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक, तकनीकी और सांस्कृतिक सहयोग पर भारत-बेलारूस अंतर-सरकारी आयोग के 11वें सत्र का आयोजन

देश-विदेश प्रौद्योगिकी व्यापार

व्यापार, आर्थिक, वैज्ञानिक, तकनीकी और सांस्कृतिक सहयोग पर भारत-बेलारूस अंतर-सरकारी आयोग के 11वें सत्र का 10 नवंबर, 2022 को नई दिल्ली में आयोजन किया गया। वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री श्री सोम प्रकाश ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया और बेलारूस के विदेश मंत्री श्री व्लादिमीर मेकी ने बेलारूस के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया।

अंतर सरकारी आयोग ने 2020 में आयोग के दसवें सत्र के बाद हुए द्विपक्षीय सहयोग के परिणामों की समीक्षा की। कुछ परियोजनाओं के संबंध में हुई प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए, आयोग ने ठोस परिणामों को अंतिम रूप देने के लिए व्यापार और निवेश क्षेत्र से संबंधित मंत्रालयों और विभागों को प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने का भी निर्देश दिया।

आर्थिक मोर्चे पर, ध्यान के सभी क्षेत्रों में सहयोग के विस्तार के साथ पर्याप्त प्रगति हुई है। भारत और बेलारूस ने फार्मास्यूटिकल्स, वित्तीय सेवाओं, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, भारी उद्योग, संस्कृति, पर्यटन और शिक्षा जैसे प्रमुख क्षेत्रों पर जोर देते हुए अपने सहयोग को और व्यापक बनाने की अपनी प्रबल इच्छा दोहराई।

दोनों मंत्रियों ने अपने-अपने व्यापारिक समुदायों को पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग को आगे बढ़ाने के लिए इन क्षेत्रों में एक-दूसरे के साथ जुड़ने का निर्देश दिया।

दोनों पक्षों ने भारत के विभिन्न राज्यों और बेलारूस के क्षेत्रों में विशेष रूप से ध्यान के क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने पर भी सहमति जताई।

भारत और बेलारूस 1991 से रणनीतिक साझेदार हैं। दोनों देश कई क्षेत्रों में सहयोग करते हैं। यह यात्रा मौजूदा संबंधों की समीक्षा करने और दोनों देशों के बीच सहयोग को और मजबूत करने के माध्यमों और साधनों का पता लगाने का भी एक अवसर सिद्ध हुई।

Related posts

फिर भड़की की आग आरक्षण को लेकर, गन्नौर में मालगाड़ी जलाई, 70 ट्रेनें रद्द

भारत और एडीबी ने पश्चिम बंगाल के तीन जिलों में सुरक्षित पेयजल सेवा मुहैया कराने के लिए 240 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए

हम दो लोकतांत्रिक देश हैं, दोनों देशों की जनता खेल से प्यार करती है, दोनों देश राष्ट्रमंडल के सदस्य हैं: श्री गोयल