जायडस वेलनेस करेगी हेंज के भारतीय कारोबार का अधिग्रहण, 4595 करोड़ रुपए में होगा सौदा

देश-विदेश

नई दिल्‍ली: जायडस ग्रुप की वेलनेस इकाई जायडस वेलनेस लिमिटेड अमेरिकन फूड और बेवरेज दिग्‍गज क्राफ्ट हेंज की भारतीय इकाई हेंज इंडिया प्रा. लि. का 100 प्रतिशत अधिग्रहण करने जा रही है। इस बात की घोषणा बुधवार को की गई। इस अधिग्रहण सौदे के चालू वित्‍त वर्ष की चौथी तिमाही में पूरा होने की संभावना है।

कंपनी ने नियामकीय जानकारी में बताया है कि वह अपनी पैतृक कंपनी कैडिला हेल्‍थकेयर लिमिटेड के साथ मिलकर हेंज इंडिया को 4,595 करोड़ रुपए में खरीदेगी। इसमें 40 करोड़ रुपए की शुद्ध कार्यशील पूंजी, 15 करोड़ की नकदी और काई कर्ज नहीं शामिल है।

हालांकि कंपनी ने बताया है कि इस प्रस्‍तावित सौदे के लिए इक्विटी और कर्ज के जरिये धन की व्‍यवस्‍था की जाएगी। कंपनी ने कहा है कि चुनिंदा प्राइवेट इक्विटी कंपनियों ने इक्विटी समर्थन के जरिये इस सौदे में भागीदारी करने की प्रतिबद्धता जताई है। यह सौदा ईपीएस के आधार पर होने की संभावना है।

इस प्रस्‍तावित सौदे के तहत जायडस हेंज के अलीगढ़ और सितारगंज स्थित दो बड़े विनिर्माण संयंत्रों और ऑपरेशन, रिसर्च, सेल्‍स, मार्केटिंग एवं सपोर्ट में कार्यरत कर्मचारियों का भी अधिग्रहण करेगी।

हेंज इंडिया का टर्नओवर 2017-18 में 1185 करोड़ रुपए था। अधिग्रहण के बाद जायडस वेलनेस का टर्नओवर बढ़कर लगभग 1700 करोड़ रुपए हो जाएगा, जो इसे फास्‍ट ग्रोइंग कंज्‍यूमर हेल्‍थकेयर मार्केट में एक मजबूत खिलाड़ी बनाएगा। इस सौदे में जायडस हेंज के केचअप, टोमैटो सॉस, मैयोनीज आदि का अधिग्रहण नहीं करगी।

जायडस वेलनेस ऐतिहासिक न्‍यूट्रीशन और कंज्‍यूमर ब्रांड कॉम्‍प्‍लान, ग्‍लूकॉन डी, नाइसिल और समप्रति घी का अधिग्रहण करेगी। 30 जून 2018 को समाप्‍त वर्ष के दौरान इन चार ब्रांड का कुल टर्नओवर 225 करोड़ रुपए था। जायडस की फूड, न्‍यूट्रीशन और स्किनकेयर मार्केट में सुगर फ्री, एवरयूथ और न्‍यूट्रालाइट ब्रांड के जरिये पहले से ही मजबूत उपस्थिति है।

Related posts

चीन के साथ भारत के बहुमुखी संबंध: सरकार

नीट (यूजी) – 2020 के आवेदन फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि- 6 जनवरी, 2020 तक बढ़ा दी गई

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के प्रयासों की बदौलत 9 लाख से भी अधिक कामगार सिर्फ 6 दिनों में ही बैंकिंग दायरे में आ गए