G7 summit-2022: जी 7 शिखर सम्मेलन के लिए जर्मनी जाएंगे पीएम मोदी, इस दौरान करेंगे UAE की भी यात्रा

देश-विदेश

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 26-27 जून को जी 7 शिखर सम्मेलन के लिए जर्मनी के श्लॉस एलमौ का दौरा करेंगे और भारत वापस आने के दौरान संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा भी करेंगे।

जर्मनी के चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के निमंत्रण पर पीएम मोदी देश की यात्रा कर रहे हैं। “शिखर सम्मेलन के दौरान, प्रधानमंत्री मोदी के दो सत्रों में बोलने की उम्मीद है जिसमें पर्यावरण, ऊर्जा, जलवायु, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, लैंगिक समानता और लोकतंत्र शामिल हैं।

G7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के बाद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 28 जून, 2022 को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की यात्रा करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात के पूर्व राष्ट्रपति और अबू धाबी शासक शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान के निधन पर अपनी व्यक्तिगत संवेदना व्यक्त करेंगे।

“प्रधानमंत्री मोदी उसी रात 28 जून को संयुक्त अरब अमीरात से प्रस्थान करेंगे। शिखर सम्मेलन के मौके पर, पीएम मोदी कुछ भाग लेने वाले देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। G7 शिखर सम्मेलन का निमंत्रण भारत और जर्मनी के बीच मजबूत और घनिष्ठ साझेदारी और उच्च स्तरीय राजनीतिक संपर्कों की परंपरा को ध्यान में रखते हुए है। भारत-जर्मनी अंतर-सरकारी परामर्श (आईजीसी) के छठे संस्करण के लिए पीएम मोदी की अंतिम जर्मनी यात्रा 2 मई, 2022 को हुई थी।

संयुक्त बयान के अनुसार, छठे अंतर-सरकारी परामर्श के दौरान, भारत और जर्मनी ने हरित और सतत विकास के लिए अपने समझौते में हाइड्रोजन रोडमैप विकसित करने पर सहमति व्यक्त की। बयान में दोनों देश भारत-जर्मन अक्षय ऊर्जा साझेदारी स्थापित करने पर सहमत हुए, जिसमें नवीन सौर ऊर्जा और अन्य नवीकरणीय ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित किया गया था। जिसमें बिजली ग्रिड, भंडारण और बाजार डिजाइन के लिए संबंधित चुनौतियों को शामिल किया गया ताकि एक उचित ऊर्जा संक्रमण की सुविधा मिल सके।

प्रधानमंत्री मोदी अपनी तीन दिवसीय यूरोप यात्रा के पहले चरण में जर्मनी में थे। जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ द्विपक्षीय बैठक के बाद उन्हें औपचारिक गार्ड ऑफ ऑनर मिला। दिसंबर 2021 में चांसलर स्कोल्ज के पदभार ग्रहण करने के बाद से यह उनकी पहली मुलाकात थी।

सोर्स: यह Jagran न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ श्रमजीवी जर्नलिस्ट टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Related posts

डिजिटल प्रौद्योगिकी के उपयोग के लिए अपने कौशल को समायनुकूल एवं उन्नत बनाएं शिक्षक: राष्ट्रपति

प्रधानमंत्री का “प्रगति” के माध्यम से बातचीत

भारतीय सैन्य दल संयुक्त सैन्य अभ्यास लामितिये – 2022 के लिए सेशेल्स पहुंचा