जी किशन रेड्डी ने राष्‍ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 36वें स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीं

Image default
देश-विदेश

केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री श्री जी किशन रेड्डी ने आज यहां मानेसर में राष्‍ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 36वें स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के ‘विजनरी गाइडेंस’ और गृह मंत्री श्री अमित शाह के नेतृत्व में केंद्र सरकार राष्ट्र प्रथम (नेशन फर्स्ट) के दृढ़ संकल्प के साथ काम करती है और एनएसजी इस संकल्‍प को सफलतापूर्वक क्रियान्वित कर रही है।

केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड एक ‘टास्‍क ओरिएंटेड’ (task-oriented) फोर्स है जिसने समय-समय पर बहुत ही प्रशंसनीय कार्य किए हैं। कोविड-19 महामारी से लड़ने में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और विपरीत परिस्थितियों में देश की सेवा करने की प्रतिबद्धता के कारण पूरा देश एनएसजी पर गर्व करता है।

श्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि सन 2002 का अहमदाबाद में अक्षरधाम पर आतंकी हमला हो या नवंबर 2008 का मुंबई आतंकी हमला, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड ने बहुत ही प्रभावशाली तरीके से वीरता का परिचय दिया और अनेकों जान बचाते हुए आतंकवादियों को मार गिराया।

केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री श्री अमित शाह तथा समस्‍त देशवासियों की ओर से शुभकामनाएं समर्पित करते हुए कहा कि एनएसजी ऑपरेशन कार्यों के साथ-साथ सरकार द्वारा उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों जैसे कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई, फिट इंडिया मूवमेंट, स्वच्छ भारत अभियान में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही है। सरकार की स्टार्टअप योजना को प्रोत्साहित करने के लिए फरवरी 2020 में सेमिनार का आयोजन उल्‍लेखनीय है। एनवायरमेंट प्रोजेक्ट जैसे हरित अरावली, सोलर पावर, वाटर हार्वेस्टिंग तथा सीवरेज ट्रीटमेंट भी चलाया जा रहा है जो अत्यंत सराहनीय कदम है। श्री रेड्डी ने कहा कि यह खुशी की बात है कि एनएसजी का कैंपस ‘प्‍लास्‍टिक फ्री’ है।

श्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि एनएसजी आज विश्व की सबसे आधुनिक तकनीक से लैस फोर्सेज में से एक है। आज आतंकवाद ने अपना स्वरूप बदला है ऐसे में प्रशिक्षण और टेक्नोलॉजी की दृष्टि से एनएसजी को भी और सुदृढ़ किया गया जिससे एनएसजी खुद आगे बढ़ते हुए देश के दूसरे सुरक्षा बलों के लिए भी प्रेरणास्रोत का काम कर रहा है।

केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि भारत अनादिकाल से ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की धारणा में विश्वास रखता है जिसका अर्थ है कि पूरा विश्व एक परिवार है। हम कभी किसी भी व्यक्ति या देश के लिए बुरा नहीं सोचते हैं किंतु यदि भारत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जाएगी तो हम निर्णायक रूप से उचित कार्यवाही करने में सक्षम हैं।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने देश के हितों की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले एनएसजी शहीदों के सम्मान में ‘शौर्य स्थल’ पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने इस अवसर पर एनएसजी के 19 वीर शहीदों को समर्पित ‘शौर्य’ नामक पुस्तक का भी विमोचन किया।

इससे पहले राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के महानिदेशक श्री सुरजीत सिंह देशवाल ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री का स्‍वागत करते हुए उन्‍हें एनएसजी द्वारा विगत वर्षों में निरंतर की गई प्रगति तथा काउंटर टेररिज्म, काउंटर हाईजैकिंग, अति संवेदनशील विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा और राज्य पुलिस बलों की क्षमता निर्माण जैसे पेशेवर मोर्चों पर संगठन की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी।

Related posts

व.उ. चिदम्बरनार पत्तन न्यास में सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन

श्री राधा मोहन सिंह ने दो वर्ष सूखा पड़ने के बावजूद खाद्यान उत्‍पादन ऊंचा रखने के लिए वैज्ञानिकों और किसानों की सराहना की और गोकुल ग्राम परियोजना की आधारशिला रखी।

एमएसएमई मंत्रालय ने एमएसएमई को बाधाओं को तोड़ने और चैम्पियन बनने का रास्ता दिखाया