जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के घर और दफ्तर पर ED का छापा

Image default
देश-विदेश

जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के घर और दफ्तर पर ED ने छापा मारा है. मुबई और दिल्ली में करीब एक दर्जन जगहों पर छापेमारी चल रही है. ईडी के अधिकारी ने बताया कि यह रेड विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के प्रावधानों के तहत की गई है. सूत्रों ने जुलाई में कहा था कि कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय की जांच में कंपनी के कोष को इधर उधर करने समेत व्यापक स्तर पर अनियमितता का पता चला था.

जेट एयरवेज नकदी संकट के बाद 17 अप्रैल से परिचालन से बाहर है, नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल ने मार्च में जेट एयरवेज के निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया था. जिस शख्स ने जेट एयरवेज को बनाया और 25 साल तक चलाया, उसी नरेश गोयल को एयरलाइंस को बचाने के लिए अपनी कंपनी के चेयरमैन पद से हटना पड़ा था.

जेट एयरवेज 8,500 करोड़ रुपये के कर्ज के तले डूबी हुई है. साल 2010 से जेट एयरवेज लगातार घाटे में थी. नुकसान और कर्ज बढ़ने के बाद देनदार एयरलाइंस को और पैसा देने से मुकर गए. धीरे-धीरे कंपनी के पास कर्मचारियों की सैलरी और तेल के लिए भी पैसा नहीं बचा. इसके बाद कंपनी को अपनी उड़ानों की संख्या कम करनी पड़ी. जेट ने 118 के बजाय जेट 7 विमानों से काम चलाने लगी. आर्थिक स्थिति हद से ज्यादा खराब होने के बाद निवेशकों और लेंडर्स ने चेयरमैन नरेश गोयल को पद से हटने के लिए कहा. नरेश गोयल कंपनी से हट गए फिर भी न तो लेंडर्स और न ही किसी निवेशक ने पैसा दिया. News Source The Quint

Related posts

प्रगति के लिए शांति पहली शर्त है: उप-राष्ट्रपति वेकैंया नायडू

श्री प्रहलाद सिंह पटेल लालकिले में आयोजित आजाद हिंद सरकार के स्थापना दिवस की 76वीं वर्षगांठ समारोह में शामिल हुए

चेन्नई हवाई अड्डे पर सीबीआरएन आपात स्थिति के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम