कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ का केन्द्रीय पुलिस बलों से अपने बल में छुपी हुई खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने का आह्वान

देश-विदेश

नई दिल्ली: 67वीं अखिल भारतीय पुलिस एथलेटिक्स चैम्पियनशिप, 2018 युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ द्वारा विजेता टीमों को ट्रॉफियों के वितरण के साथ संपन्न हो गई। उन्होंने 4×400 रिले दौड़ के प्रतिभागियों को भी मेडल प्रस्तुत किए। इस अवसर पर केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल–सीआईएसएफ के महानिदेशक श्री राजेश रंजन और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे।

विभिन्न स्पर्धाओं के विजेताओं को बधाई देते हुए कर्नल राठौड़ ने कहा कि खेल शारीरिक सौष्ठव, टीम भावना और नेतृत्व के गुणों को प्रोत्साहन देते हैं, जो पुलिस बलों के लिए महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने अनुशासन प्रशिक्षण, मुस्तैदी और नये मानकों को स्थापित करने के लिए सीआईएसएफ की सराहना की। उन्होंने 50 वर्ष पूरे करने के लिए सीआईएसएफ को बधाई भी दी।

इस साल के आरंभ में केन्द्र सरकार के खेलो इंडिया स्कूल गेम्स कार्यक्रम के सफल आयोजन का हवाला देते हुए श्री राठौड़ ने कहा कि ये कार्यक्रम खेल के क्षेत्र में नई क्रांति लाया है। उन्होंने बताया कि 1500 खेल प्रतिभाओं की पहचान की गई है और उन्हें अगले 8 वर्ष तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रत्येक खिलाड़ी के प्रशिक्षण पर 5 लाख रुपये का सालाना खर्च आएगा। उन्होंने कहा कि खेल के बारे में अवधारणा बदल रही है और खेलों में व्यापक बदलाव आ रहे हैं। उन्होंने सभी पुलिस बलों से अपने बल में सभी राज्यों में छुपी हुई खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने का आह्वान किया। इस अवसर पर माननीय मंत्री ने एक स्मारिका भी जारी की।

पांच दिन का यह आयोजन (10 से 14 दिसंबर) जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित किया गया। इसमें 34 टीमों के लगभग 1100 खिलाड़ियों ने भाग लिया।

Related posts

राष्ट्रपति ने लखनऊ स्थित कैप्टन मनोज कुमार पाण्डेय यू.पी. सैनिक स्कूल के हीरक जयंती उत्सव के समापन समारोह का गौरव बढ़ाया

प्रधानमंत्री ने मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर लोगों को बधाई दी

आयकर रिटर्न के संशोधित मानकः 2015-16 के लिए आयकर रिटर्न का इलेक्ट्रोनिक सत्यापन शुरू