विश्व चैंपियनशिप में भी स्वर्णिम प्रदर्शन करूंगा: बजरंग पुनिया

खेल समाचार

भारत को 18वें एशियाई खेलों में पहला स्वर्ण पदक दिलाने वाले स्टार पहलवान बजरंग पुनिया ने मंगलवार को यहां कहा कि वह अपने इस प्रदर्शन को अक्टूबर में बुडापेस्ट में होने वाली विश्व चैंपियनशिप में भी बरकरार रखेंगे।

बजरंग आईजी स्पोट््र्स काम्पलैक्स स्थित केडी जाधव कुश्ती स्टेडियम में गुरू हनुमान मेमोरियल दिल्ली रेसलिग चैंपियनशिप(अंडर-23) देखने पहुंचे जहां मौजूद पहलवानों ने उनका तालियों की गडग़ड़ाहट से स्वागत किया। बजरंग ने इस अवसर पर कहा,Þ मैंने राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों में लगातार स्वर्ण पदक जीते हैं और अब मेरी पूरी कोशिश रहेगी कि विश्व चैंपियनशिप में भी देश के लिये स्वर्ण पदक जीतूं। 24 वर्ष के बजरंग ने 2013 में बुडापेस्ट में हुई विश्व चैंपियनशिप में 60 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था लेकिन वह अब 65 किग्रा वर्ग में लड़ते हैं और उनके राष्ट्रमंडल तथा एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक 65 किग्रा वजन वर्ग के हैं। विश्व चैंपियनशिप का आयोजन हंगरी के बुडापेस्ट में 20 से 28 अक्टूबर तक होना है।

बजरंग ने यूनीवार्ता से कहा,Þ अब मेरे दो अगले बड़े लक्ष्य विश्व चैंपियनशिप और 2020 के ओलंपिक हैं। इस बार जो विश्व चैंपियनशिप होनी है उसमें ओलंपिक कोटा नहीं है। लेकिन 2019 की चैंपियनशिप में ओलंपिक कोटा होगा। मैं अभी योगी भाई(योगेश्वर दत्त) की अकादमी में अपनी तैयारी कर रहा हूं। लेकिन मैं विश्व चैंपियनशिप की तैयारी के लिये जल्द बाहर जा रहा हूं। पहले मैं जार्जिया जाऊंगा और इसके बाद पोलैंड जाऊंगा। मैं वहां से सीधा बुडापेस्ट के लिये रवाना हो जाऊंगा।Þ

स्वर्ण विजेता पहलवान ने एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक को यादगार बताते हुये कहा,Þमेरी तैयारी अच्छी थी और मुझे खुद पर भरोसा था। मैंने जाने से पहले वादा किया था कि 19 अगस्त को जकार्ता में तिरंगा लहराएगा और मैंने इस वादे को पूरा किया।

यह पूछने पर कि वह अपने स्वर्ण पदक को किसे समर्पित करते हैं बजरंग ने कहा,Þ मेरे साथ सभी देशवासियों की दुआएं थीं, गुरू का आर्शीवाद था, दोस्तों और परिवार का समर्थन था इसलिये यह पदक सभी को समर्पित है। पदक जीतते ही मेरे पास सभी जगह से संदेश आये, सभी ने बधाई दी, योगी भाई का फोन आया, हमारे गांव के नरेंद्र पहलवान का फोन आया, परिवार के सदस्यों ने फोन किये, मेरे लिये यह बड़ा क्षण था और मैं सभी का धन्यवाद करता हूं। उन्होंने दो साल बाद टोक्यो में होने वाले ओलंपिक के लिये भी पदक जीतने का विश्वास व्यक्त करते हुये कहा,Þ मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा कि देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरूं और देश के लिये पदक जीतूं।

Related posts

इंडियन प्रीमियर लीग: बीसीसीआई ने नीलामी की तारीखों का किया ऐलान

रोहित-धवन ने तोड़ा सहवाग-गंभीर का सालों पुराना रिकॉर्ड

आईपीएल 2018: नीलामी के बाज़ार में 1122 खिलाड़ी लेंगे हिस्सा, पहली बार दिखेगा ये दिग्गज़ खिलाड़ी