एआईएफएफ ने पूर्व डिफेंडर रेबेलो के निधन पर शोक व्यक्त किया

खेल समाचार

नयी दिल्ली: पूर्व भारतीय फुटबॉलर एंथनी रेबेलो का सोमवार सुबह 65 वर्ष की आयु में निधन हो गया। रेबेलो के परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं। रेबेलो 1970 और 80 के दशक में भारत के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडरों में से एक थे। उन्होंने 1982 में कुआलालंपुर में मर्डेका कप और सियोल में प्रेसिडेंट कप के लिये भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

एआईएफएफ के अध्यक्ष कल्याण चौबे ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “रेबेलो अपने कौशल और हार न मानने वाले रवैये के कारण उस समय के सबसे सम्मानित डिफेंडरों में से एक थे। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दें।”

एआईएफएफ के महासचिव डॉ. शाजी प्रभाकरण ने कहा, “रेबेलो एक सेंट्रल डिफेंडर थे, जो बहुत जुनून के साथ फुटबॉल खेलते थे और कई सालों तक घरेलू फुटबॉल में एक बड़ा नाम बने रहे। उनके निधन से भारतीय फुटबॉल परिवार को गहरा दुख हुआ है।”

घरेलू स्तर पर रेबेलो कई वर्षों तक सलगांवकर फुटबॉल क्लब के लिये खेलते रहे। उन्होंने 1977 में गोवा जायंट्स एफसी का दामन थामा और 11 सीज़न तक इस टीम के साथ बने रहे। गोवा ने 1983-84 सीज़न के समय जब पहली बार संतोष ट्रॉफी जीती तब रेबेलो ऐतिहासिक टीम के एक प्रमुख सदस्य थे।

-(एजेंसी/वार्ता)

Related posts

साउथ अफ्रीका फिर बनी नंबर वन वनडे टीम, टीम इंडिया को लगा झटका

आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी2017: पांच कारण, जिनके दम पर पस्त हुआ पाक

IND vs SL: श्रीलंका को 5वां झटका, बुमराह ने असलंका को भेजा पवेलियन