विधान सभा परिसर के बाहर शिक्षामंत्री अरविन्द पाण्डेय देहरादून के प्राइवेट स्कूलों के अभिभावकों की समस्याओं को सुनते हुए

उत्तराखंड

देहरादून: प्रदेश के विद्यालयी शिक्षा, प्रौढ़़ शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल मंत्री अरविन्द पाण्डेय से विधान सभा में अपनी समस्याओं के सम्बन्ध में देहरादून के प्राईवेट स्कूलों के अभिभावकों ने मुलाकात की तथा उनका ध्यान प्राईवेट स्कूलों की मनमानी पर दिलाया।

इसी क्रम में शिक्षा मंत्री श्री पाण्डेय विधान सभा परिसर के बाहर आ कर लवडेल स्कूल के अभिभावकों से मिले। अभिभावकों का कहना था, कि स्कूल द्वारा प्रतिवर्ष फीस शुल्क में वृद्धि की जाती है तथा कतिपय ऐसे शुल्क यथा री-एडमिशन आदि के नाम पर पूर्व से पढ़ रहे बच्चों की भी शुल्क जमा कराई जाती है, तथा टी0सी0 का शुल्क भी 500 रूपये है, जो बहुत अधिक है, जिसके कारण अभिभावकों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।

शिक्षामंत्री श्री पाण्डेय द्वारा अपर जिलाधिकारी देहरादून वीर सिंह बुदियाल, सीटी मजिस्ट्रेट सीएस मर्तोलिया, एसपीसीटी अजय सिंह को बुलाकर लवडेल स्कूल के अभिभावकों के साथ स्कूल प्रबन्धन से तत्काल वार्ता करने के निर्देश दिये गये।

शिक्षा मंत्री ने इस शिकायत का संज्ञान लेते हुए अपर मुख्य सचिव डाॅ0 रणबीर सिंह को निर्देश दिये कि प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश जारी करें कि वे प्राईवेट स्कूलों के प्रबन्धनतंत्र से वार्ता कर री-एडमिशन के नाम पर वसूले गये शुल्क की तत्काल अभिभावकों को वापसी कराई जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि कोई भी प्राईवेट स्कूल विभिन्न सुविधाओं यथा खेल, मनोरंजन अन्य सेवाओं के नाम पर अभिभावकों से शुल्क लेते हैं, किन्तु सेवाएँ नहीं देते हैं। ऐसे शुल्क की वापसी भी तुरन्त कराई जाये। उन्होंने फीस वृद्धि के प्रकरण पर भी जिला प्रशासन के माध्यम से मानिटरिंग कराने के निर्देश दिये।

Related posts

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने समस्त प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी

पंजाब नैशनल बैंक पहली महिला शाखा के उद्घाटन कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुएः श्रीमति मनीषा पंवार

उत्तराखण्ड फिल्म विकास परिषद के उपाध्यक्ष हेमन्त पाण्डेय से भेंट करते हुएः मुख्यमंत्री हरीश रावत

Leave a Comment