राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक ने जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्‍ट का दौरा किया और इस पोर्ट के एक ट्रर्मिनल के परिचालनों को बाधित करने वाले साइबर हमले के प्रभाव का आकलन किया

देश-विदेश

राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक डॉ. गुलशन राय ने जेएनपीटी बंदरगाह पर एक कंटेनर ट्रर्मिनल के परिचालनों को बाधित करने वाले वैश्विक साइबर हमले के प्रभाव का आकलन करने के लिए जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह ट्रस्‍ट (जेएनपीटी) का दौरा किया। उन्‍होंने मुख्‍य आयुक्‍त कस्‍ट्म एंड एक्‍सजाइज, जेएनपीटी के चेयरमैन और महानिदेशक –साइबर, महाराष्‍ट्र के साथ मिलकर जीटीआई ट्रर्मिनल, डीपी वर्ल्‍ड और जेएनपीटी के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया।

     जेएनपीटी चार ट्रर्मिनलों के माध्‍यम से कंटेनर यातायात का रख-रखाव करता है। एक ट्रर्मिनल (जीटीआई) का परिचालन मोलर मर्स्‍क करती है, जो डेनमार्क की कंपनी है, जिसका मुख्‍यालय कोपनहेगन में है। दो अन्‍य ट्रर्मिनलों- एनएसआईसीटी और एनएसआईजीटी का परिचालन डीपी वर्ल्‍ड द्वारा तथा चौथे ट्रर्मिनल जेएनपीसीटी का परिचालन जेएनपीटी द्वारा स्‍वयं  किया जाता है। एपी मोलर मर्स्‍क का केन्‍द्रीय आईटी बुनियादी ढांचा हेग में स्थित है, जो 27/28 जून, 2017 के साइबर हमले में प्रभावित हुआ है। इसके परिणामस्‍वरूप जेएनपीटी के जीटीआई ट्रर्मिनल के आईटी बुनियादी ढांचे की स्‍थापना, प्रबंधन और परिचालन ए.पी. मोलर मर्स्‍क द्वारा किया जाता है। यह भी हमले में प्रभावित हुआ है और एपीएम प्रबंधन को जेएनपीटी में अपने आईटी बुनियादी ढांचे को बंद करना पड़ा है। जेएनपीटी के तीन अन्‍य कंटेनर ट्रर्मिनल पूरी क्षमता और कार्य निष्‍पादन के साथ कार्य कर रहे हैं। कस्‍टम और एक्‍साइज प्राधिकरण का आईटी बुनियादी ढांचा जेएनपीटी में परिचालनों का रख-रखाव कर रहा है और यह पूरी क्षमता के साथ सामान्‍य रूप से कार्य कर रहा है। जेएनपीटी प्राधिकारियों के साथ-साथ कस्‍टम और एक्‍साइज विभाग ने भी साइबर सुरक्षा के संबंध में अपने बुनियादी ढांचे में लचीलापन और सुरक्षा बढ़ाने के लिए सभी आवश्‍यक कदम उठाए हैं।

   पीपावाव ट्रर्मिनल, आईसीडी दादरी और सीएफएस न्‍हावा शेवा का प्रबंधन एपीएम समूह द्वारा किया जा रहा है, जो बुनियादी ढांचे पर साइबर हमले के कारण प्रभावित हुआ है। एपी मोलर मर्स्‍क की सूचना प्रौद्योगिकी टीम देश की आईटी कंपनियों के साथ मिलकर आईटी बुनियादी ढांचे की शीघ्र बहाली और कार्गो परिचालन कार्य शुरू करने के लिए कार्य कर रही है। हालांकि उनके बुनियादी ढांचे की बहाली उनकी वैश्विक सूचना प्रौद्योगिकी प्रणालियों की बहाली के साथ जुड़ी हुई है।

    जेएनपीटी के अधिकारी एपी मोलर मर्स्‍क के दल के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं, और कंपनी के परिचालनों की शीघ्र बहाली के लिए हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं। कार्गों पर भीड़-भाड़ रोकने के लिए अतिरिक्‍त पार्किंग जगह उपलब्‍ध कराई गई है। अन्‍य ट्रर्मिनलों का परिचालन करने वाले जेएनपीटी के अधिकारियों और डीपी वर्ल्‍ड आकस्मिक अवधि के दौरान एपीएमटी में आने वाले जहाजों को बर्थिंग सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

Related posts

रेल मंत्रालय ने क्षेत्रीय कार्यालयों को रेलों के आगमन और प्रस्थान से संबंधित जानकारी डेटा लॉगर्स में अद्यतन करने का निर्देश दिया

एनएफएल ने हरियाणा में किसानों को कपास चुनने की मशीनें बांटी

सरकार द्वारा 2017-18 के लिए पीजी मेडिकल की 4,000 से अधिक सीटें बढ़ाई गई: जेपी नड्डा

Leave a Comment