मैनपुरी में बीमार मरीज के तीमारदारों द्वारा नहीं की गयी थी 108 एम्बुलेन्स सेवा की मांग

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री प्रशान्त त्रिवेदी ने कहा है कि दिनांक 13 मार्च, 2018 को कतिपय समाचार पत्रों में प्रकाशित कि मैनपुरी निवासी श्री कन्हैया लाल को उनकी पत्नी के इलाज हेतु चिकित्सालय ले जाने के लिये मांग करने पर 108 एम्बुलेन्स की सेवा उपलब्ध नहीं करायी गयी, यह सत्य नहीं है। उन्होंने बताया कि श्री कन्हैया लाल द्वारा एम्बुलेन्स सेवा के लिये मांग ही नहीं की गयी थी।

     इस सम्बन्ध में आवश्यक कार्यवाही के लिये जिलाधिकारी, मैनपुरी से जांच करायी गयी। जिलाधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट में बताया कि श्री कन्हैया लाल ने 108 एम्बुलेन्स सेवा की मांग ही नहीं की थी, जहां तक पत्नी के शव को अस्पताल से घर ले जाने के लिये शव वाहन की सेवा उपलब्ध न कराये जाने का सवाल है, इस सम्बन्ध में लापरवाही बरतने के आरोप में हरनाथ सिंह, चीफ फार्मासिस्ट एवं डाॅ0 पी0के0 झा, आई सर्जन के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही की जा रही है।

     श्री त्रिवेदी ने बताया कि चिकित्सालयों में मरीजों के इलाज के लिये आवश्यक समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिये समस्त मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि चिकित्सालयों में मरीजों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी चिकित्सालय में किसी भी स्तर पर इस प्रकार की कोई अनियमितता पायी जायेगी, तो सम्बन्धित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

Related posts

मुख्यमंत्री 28 अक्टूबर को लखनऊ में मध्यान्ह भोजन योजना के तहत छात्र-छात्राओं को बर्तन वितरित करेंगे

मुख्यमंत्री ने उन्नाव की सड़क दुर्घटना के मृतकों के परिजनों को 02-02 लाख रु0 की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए, पुलिस द्वारा महिलाओं के साथ किए गए दुव्र्यवहार पर मुख्यमंत्री का गम्भीर रुख, गंगा घाट के थानाध्यक्ष निलंबित

टेक्निकल आडीटर, अथाॅरिटी इंजीनियर एवं पी0आई0यू0 को गुणवत्ता की जांच लगातार करने के निर्देश दिए: अवनीश कुमार अवस्थी