बिना किसी जांच-पड़ताल के भूमि की रजिस्ट्री तथा एक ही भूमि की रजिस्ट्री बार-बार किए जाने की घटनाओं को रोका जाए

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग के प्रस्तुतिकरण के अवसर पर अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जनसामान्य को पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के साथ-साथ न्यूनतम समय में विभाग की सेवाएं उपलब्ध हों। उन्हांेंने कहा कि प्रत्येक स्तर पर कार्यालयों में आधुनिक कार्य प्रणाली अपनायी जाए। विभाग द्वारा अधिक से अधिक राजस्व प्राप्ति को बढ़ाने के उपाय सुनिश्चित किए जाएं और बिना किसी जांच-पड़ताल के भूमि की रजिस्ट्री तथा एक ही भूमि की रजिस्ट्री बार-बार किए जाने की घटनाओं को रोका जाए।
श्री योगी ने सभी विवाहों का पंजीकरण सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संरक्षित विलेखों की स्कैनिंग, इण्डेक्सिंग तथा आॅनलाइन उपलब्धता जनसामान्य को मुहैया कराई जाए। उन्होंने कहा कि पंजीकरण कार्यालयों की कार्य प्रणाली को कैशलेस बनाने की दिशा में कार्यवाही की जाए। पी0पी0पी0 माॅडल पर उप निबन्धक कार्यालयों के आधुनिकीकरण के उपाए सुनिश्चित किए जाएं तथा इसी माॅडल पर आर्थिक रूप से व्यावहारिक परियोजनाएं बनाई जाएं। उन्होंने कहा कि कार्यालयों में कम्प्यूटर कार्य व तकनीकी रूप से दक्ष कर्मियों की उपलब्धता हो। जनसामान्य पर विभाग के अतिरिक्त बाहरी लोगों व बिचैलियों का शिकंजा न हो, इसके लिए प्रक्रिया को पारदर्शी किया जाए। उन्होंने कहा कि राजस्व प्राप्तियों की प्रगति व समीक्षा सुनिश्चित की जाए।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य, डाॅ0 दिनेश शर्मा सहित मंत्रिमण्डल के अन्य सदस्य एवं वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Related posts

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 अप्रैल, 2015 को मेरठ में विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करते हुए।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने छत्तीसगढ़ में नक्सली मुठभेड़ में शहीद वीर जवानों को आत्मिक श्रद्धांजलि अर्पित की है

दमदार और ईमानदार सरकार अखिलेश के क्लेश की असली वजह: सुरेश खन्ना

Leave a Comment