प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पर दो दिवसीय प्रथम राष्ट्रीय समीक्षा सम्मेलन बेंगलुरु में शुरू

Image default
देश-विदेश

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पर प्रथम राष्ट्रीय समीक्षा सम्मेलन का उद्घाटन आज आईआरडीए के चेयरमैन श्री सुभाष चन्द्र खुंटिया ने किया।

सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए श्री सुभाष चन्द्र खुंटिया ने कहा कि कृषि क्षेत्र देश के कुल कार्यबल के 50 फीसदी लोगों को रोजगार देता है। उन्होंने कहा कि यह योजना विश्व की सबसे बड़ी फसल बीमा योजना है जिसका उद्देश्य फसल से हुए नुकसान से किसानों को बचाने के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना है। श्री खुंटिया ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शिकायत निवारण प्रणाली को मजबूत करने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि बीमा कम्पनियों को किसानों की शिकायतों को दूर करने के लिए एक मजबूत प्रणाली बनानी चाहिए। बीमा कम्पनियों को किसानों के सवालों का जवाब देने के लिए कॉल सेंटर की स्थापना करनी चाहिए। श्री खुंटिया ने बीमा कम्पनियों से फसल कटाई प्रयोग (सीसीई) को निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से करने का आग्रह किया। उन्होंने बीमा कम्पनियों से फसल बीम दावों को तेजी से निपटाने की सलाह दी।

Related posts

पर्यटन मंत्रालय की वेबिनार श्रृंखला “देखो अपना देश” के तहत “अवध की सैर- लखनऊ का गौरव” विषय के माध्यम से पाक – कला पर्यटन की संभावनाओं को दर्शाया गया

विश्‍व ओजोन दिवस पर संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भारत की ‘कूलिंग एक्‍शन प्‍लान’ की सराहना की

प्रधानमंत्री ने राजस्थान के जोधपुर में हुई एक सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक जताया