तकनीकी शिक्षा, जलागम व ग्राम्य विकास विभाग की बैठक करते हुएः राज्य मंत्री डाॅ धन सिंह रावत

Image default
उत्तराखंड

देहरादून: प्रदेश के सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 धन सिंह रावत ने विधान सभा सभाकक्ष में जलागम ग्राम्य विकास एवं चाय विकास बोर्ड सम्बंधित श्रीनगर विधान सभा क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की गई।
बैठक में डाॅ. रावत ने श्रीनगर विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत तकनीकी शिक्षा, प्रशिक्षण एवं सेवायोजन विभाग के अन्तर्गत निर्माणाधीन आई.टी.आई. एवं पाॅलिटैक्निक संस्थानों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को यथा समय निर्माण कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। विभागीय अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि पाबों स्थित आई.टी.आई. का निर्माण आगामी जून माह तथा बुंगीधार आई.टी.आई. का निर्माण मई 2020 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। जबकि थैलीसैंण में प्रस्तावित पीपीपी मोड़ के अन्तर्गत बनाये जा रहे आई.टी.आई. निर्माण कार्य शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार थैलीसैण, खिर्सू व पाबौं विकासखण्डों में चाय की सम्भावनाओं को तलासते हुए नर्सरी लगाये जाने के निर्देश भी चाय बोर्ड के अधिकारियों को दिये।
बैठक में जलागम व ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा के दौरान अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि श्रीनगर विधान सभा क्षेत्र के चयनित गांवों में जलागम की योजनायें पिछले काफी समय से चलायी जा रही हैं। पाबों विकास खण्ड के अन्तर्गत जलागम विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं पर राज्यमंत्री डाॅ रावत द्वारा असन्तोष व्यक्त करते हुए योजनाओं को और बेहतर ढंग से चलाने के निर्देश दिये। जलागम के अपर निदेशक नियोजन नीना ग्रेवाल ने बताया कि पाबों विकासखण्ड के अन्तर्गत चयनीत गांव में विभाग के कार्यों में गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए और तेजी लाई जायेगी। बैठक में निर्णय लिया गया कि योजनाओं के सफल संचालन के लिए ग्राम्य विकास, पंचायती राज, कृषि, जलागम आदि रेखीय विभागों को आपसी सामंजस्य बनाकर कार्य करना होगा। जिसकी माॅनिटरिंग मुख्य विकास अधिकारी द्वारा समय-समय पर की जायेगी।

Related posts

कभी बीजेपी की आंखों का तारा था उमेश कुमार, एक स्टिंग वीडियो से कांग्रेस में ला दिया था सियासी तूफान

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिह रावत को स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए मुख्य अभियंता वी.आर.ओ. ऋषिकेश, ब्रिगेडियर श्री यू सी मेहता

उत्तराखंड हिमालयन एमटीबी चैलेंज के समापन पर विजेता सम्मानित