ग्राहकों को उत्कृष्टि सेवायें देने हेतु मोबइल ऐप ‘‘एम-पासबुक’’ का शुभारम्भ करते हुए मंत्री, श्री मुकुट बिहारी वर्मा

कृषि संबंधित

लखनऊ: प्रदेश के सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए प्रतिबद्ध है, किसानों के विकास के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। उ0प्र0 कोपरेटिव बैंक लि0 के सभी अधिकारी/कर्मचारी मेहनत व ईमानदारी से कार्य करते हुए किसानों की हर सम्भव मदद करना सुनिश्चित करे। किसानों से अच्छा व्यवहार भी किया जाये इसका भी ध्यान रखा जाये। यह बातें सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने आज यहां उ0प्र0 कोआपरेटिव बैंक लि0 मुख्यालय में उ0प्र0 कोआपरेटिव बैंक लि0 के ग्राहकों को उत्कृष्ट सेवाये देने हेतु मोबाइल ऐप ‘‘एम-पासबुक’’ का शुभारम्भ के अवसर पर व्यक्त किये।

उन्होंने कहा कि उ.प्र. कोआपरेटिव बैंक लि. की समस्त शाखायें पूर्णतया कम्प्यूटरीकृत हैं तथा कोर बैंकिंग के अन्तर्गत संचालित हैं। बैंक के ग्राहकों को आरटीजीएस, एनईएफटी, एटीएम, डी.बी.टी.एल., एस.एम.एस. एलर्ट व च्वे.म.बवउ आदि की सुविधायें पूर्व से ही उपलब्ध कराई जा रही हैं तथा मोबाइल ऐप ‘‘एम-पासबुक’’ के माध्यम से अपने खातों का विवरण मोबाइल पर भी देखा जा सकता है तथा उसका प्रिन्ट भी प्राप्त किया जा सकता है।

इस मोबाइल ऐप में सुरक्षा मानकों को अपनाते हुए ग्राहक अपने बैंक के सभी खातों के लेन-देन का विवरण तत्काल एक क्लिक पर प्राप्त कर सकता है।  श्री वर्मा ने यह भी कहा कि बैंक अपने सामाजिक जिम्मेदारियों के निर्वहन के प्रति भी प्रतिबद्ध है तथा इस दिशा में वन्यजीवों को अंगीकृत करना तथा बाढ़ पीढ़ितों को सहायता दिये जाने हेतु भी इस वर्ष अंशदान किया गया है।  उन्होंने कहा कि प्रदेश के गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान हेतु प्रदेश की चीनी मिलों के वित्तपोषण का कार्य भी बैंक द्वारा किया जा रहा है।

सहकारिता मंत्री ने कहा कि बैंक द्वारा जनमानस को सस्ती दरों पर ऋण की सुविधा उपलब्ध हो, उसके लिए ऋण विविधीकरण योजनान्तर्गत व्यक्तिगत ऋण, वाहन ऋण एवं आवासीय ऋणों की दरों में काफी कमी भी की गई है।  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की स्वच्छ भारत योजनान्तर्गत वर्षों पुराने निष्प्रयोज्य लगभग 82 टन अभिलेखों का निस्तारण बैंक द्वारा कराया जा चुका है तथा शाखाओं में निस्तारण कार्य प्रगति पर है।

इसके अतिरिक्त बैंक की 11 शाखाओं में निष्प्रयोज्य मृत स्कन्ध का भी निस्तारण कराया जा चुका है। सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा कि उ0प्र0 सरकार की महत्वाकांक्षी फसली ऋण मोचन योजना 2017 के अन्तर्गत सहकारी बैंकों के 106516 किसानों के नाॅन एनपीए के अन्तर्गत 277.89 करोड़ का ऋण राज्य सरकार द्वारा माफ कर दिया गया है तथा एनपीए ऋणों के अन्तर्गत 328288 लाभार्थियों को 285.42 लाख के ऋण माफ करने का कार्य अन्तिम चरण में है। सहकारिता मंत्री ने कर्मचारियों का आह्वान किया कि वे पूरी लगन, निष्ठा एवं मेहनत के साथ कार्य करें तथा सहकारिता को प्रदेश के कोने-कोने में सफल बनायें।

इस अवसर पर आयुक्त एवं निबन्धक, सहकारिता, उ0प्र0 श्री एन.के. सिंह ने कहा कि प्रदेश के सहकारी आन्दोलन में उ.प्र. कोआपरेटिव बैंक लि. की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है, लगभग 2.25 लाख खातों में 6000 करोड़ की जमा राशियाँ बैंक के पास हैं। प्रदेश में कृषकों हेतु वर्ष 2017-18 में 8350 करोड़ के फसली ऋण वितरित किये जाने के लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं।  प्रदेश में जिला सहकारी बैंकों के माध्यम से 7479 प्रारम्भिक कृषि ऋण समितियों के सदस्यों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

इस अवसर पर उ0प्र0 कोआपरेटिव बैंक लि0 के प्रबन्ध निदेशक श्री रविकान्त सिंह, अपर आयुक्त निबन्धक सहकारिता श्री ए.के. सिंह, व श्री राम प्रकाश, उ0प्र0 राज्य भण्डारण निगम लि0 श्री अलोक सिंह सहित संबंधित अधिकारी/कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

Related posts

राधामोहन सिंह ने मोल्दोवा के विदेश तथा यूरोपीय एकीकरण मंत्री श्री तुदूर उलियानोवस्‍की के साथ द्विपक्षीय संबंधों को सुदृढ़ बनाने तथा कृषि क्षेत्र में घनिष्‍ठ सहयोग को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा की

पंचायतीराज विभाग के विभिन्न योजनाओं के कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुएः आयुक्त डा0 प्रभात कुमार

ग्रामीण क्षेत्रों एवं निर्बल वर्ग के पशुपालकों के पशुओं के लिए निःशुल्क चिकित्सा एवं औषधियों की व्यवस्था