इस्पात मंत्री श्री बीरेन्द्र सिंह ने सभी कर्मचारियों से स्वच्छता को जीवन की आदत बनाने के लिए प्रोत्साहित किया

Image default
देश-विदेश प्रौद्योगिकी

नई दिल्ली: इस्पात मंत्रालय विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों को आयोजित करते हुए 15 सितम्बर से 2 अक्टूबर, 2017 तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान चला रहा है।

      इस्पात मंत्री श्री बीरेन्द्र सिंह ने 27 सितम्बर, 2017 को आयोजित एक कार्यक्रम में संयोजन प्रकोष्ठ के टीम सदस्यों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस प्रकोष्ठ को सबसे स्वच्छ विभाग के रूप में चुना गया है। मंत्री महोदय ने पुरस्कार पाने वाले सभी लोगों को बधाई देते हुए कहा कि हमें स्वच्छता को जीवन की आदत बना लेनी चाहिए। हमें स्वच्छ भारत के निर्माण के लिए मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने सभी कर्मचारियों को अभियान में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि हमें अपनी मानसिकता को बदलने की जरूरत है। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि मंत्रालय के सभी सार्वजनिक उद्यमों को स्वच्छता कार्यक्रमों को महीने दर महीने आयोजित करना चाहिए ताकि स्वच्छता की भावना लगातार बनी रहे।

      मंत्रालय के सभी लोक उद्यम स्कूलों, आवासीय क्षेत्रों और कारखानों में स्वच्छता आधारित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं।

Related posts

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के बजट का करीब 54 % अनुसूचित जातियों के लिए स्कालरशिप पर खर्च किया जाता है

जीएसटी प्रैक्टिशनर्स के नामांकन की पुष्टि के लिए परीक्षा

स्‍वतंत्रता दिवस समारोह से पहले सेना की गतिविधियां

11 comments

Leave a Comment