आगामी कांवड़ मेले की तैयारियों की समीक्षा करते हुएः सीएम

उत्तराखंड

हरिद्वार: कावंड़ मेला शुरू होने से पूर्व श्रद्धालुओं की सुविधाओं हेतु सभी व्यवस्थाएं समय पर पूर्ण कर ली जाए। जो कार्य शीघ्र पूर्ण हो सकते हैं उन्हें शीर्ष प्राथमिकता पर रखा जाए। सकुशल कांवड़ सम्पन्न कराना सभी की संयुक्त जिम्मेदारी होगी। यह निर्देश प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मेला नियंत्रण कक्ष में आगामी कांवड़ मेले की तैयारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए अधिकारियों को दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस विभाग को जो कार्य दिया गया है, पूर्ण गुणवत्ता एवं ईमानदारी से उसका निर्वहन करें। कांवड़ पटरी के कार्य की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने जिलाधिकारी को कार्यदायी संस्था के कार्यों की जांच करने के निर्देश देते हुए कहा कि यदि कार्यदायी संस्थाओं द्वारा लापरवाही की जा रही है तो उन पर कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांवड़ के दृष्टिगत अति महत्वपूर्ण कार्यों को प्राथमिकता दी जाए। कांवड़ पटरी पर 30 मीटर की दूरी पर स्ट्रीट लाईट, 500 मीटर की दूरी शुद्ध पानी की व्यवस्था, प्रत्येक 05 किमी पर शौचालय की उचित व्यवस्था रखने के निर्देश सम्बन्धित विभागों को दिये। सिंचाई विभाग को सभी घाटों पर रेलिंग की उचित व्यवस्था करने, विद्युत विभाग को हरकी पेड़ी और उसके पास उचित हेरिटेज लाइट की व्यवस्था करने तथा जर्जर तारों की मरम्मत करने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री ने नगर निगम को उचित सफाई व्यवस्था करने, कावंड़ को दृष्टिगत रखते हुए शहरी क्षेत्र में नगर निगम एवं ग्रामीण क्षेत्र में जिला पंचायत को शौचालयों की पूर्ण व्यवस्था करने के निर्देश दिये। सभी पार्किग स्थलों पर सफाई एवं पानी की उचित व्यवस्था रखने को कहा। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को कांवड़ पटरी गड्ढ़ा मुक्त रखने एवं कांवड़ियों के अल्प विश्राम हेतु निर्धारित स्थानों पर व्यवस्थाएं चैकस रखने के भी निर्देश दिये। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि सुनियोजित तरीके कांवड़ यात्रा के लिए रूट प्लान बनाये जाए। उन्होंने कहा कि कावंड़ के दौरान हिल बाईपास मार्ग खोलने के लिए हाईकोर्ट से अनुमति लेने के लिए निवेदन किया जाए। पुलिस अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि कावंड़ यात्रा मार्गों पर जहां से अधिक संख्या में श्रद्धालू आते हैं, उसके हिसाब से स्थानों को चिन्हित कर व्यवस्थाएं बनाई जाए। स्वास्थ्य विभाग को कांवड़ पटरी पर अस्थाई शिविर लगाने के साथ ही दवाईयों की पर्याप्त व्यवस्था, मोबाईल मेडिकल वैन एवं हैल्पलाईन नम्बर की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि कांवड़ के दौरान यात्रा रूट पर होटल, रेस्टोरेंट एवं ढ़ाबों पर रेट लिस्ट लगी हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा जो भी होर्डिंग एवं बैनर लगाये जा रहे हैं, उनमें आगामी 2021 कुम्भ को दृष्टिगत रखते हुए श्रद्धालुओं के देवभूमि उत्तराखण्ड में स्वागत हेतु अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाए। कावंड़ियों के रजिस्ट्रेशन के लिए ‘हर शिव शंकर-कांवड़ में सावन’ के नाम से एक एप विकसित किया जा रहा है।
बैठक में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, हरिद्वार सांसद डाॅ.रमेश पोखरियाल निशंक, विधायक आदेश चैहान, संजय गुप्ता, प्रदीप बत्रा, मेयर मनोज गर्ग, भाजपा के जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह चैहान, स्वामी रविन्द्र पुरी महाराज, प्रमुख सचिव डाॅ.उमाकान्त पंवार, आयुक्त गढ़वाल विनोद शर्मा, आईजी गढ़वाल पुष्पक ज्योति, सचिव आर.मीनाक्षी सुन्दरम, जिलाधिकारी हरिद्वार दीपक रावत, जिलाधिकारी देहरादून एस.ए. मुरूगेशन, जिलाधिकारी टिहरी सोनिका, जिलाधिकारी पौड़ी सुशील कुमार, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

टपकेश्वर मोक्ष धाम पहुँच कर सेना के शहीद मेजर विजय सिंह अहलावत को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुएः सीएम

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पंचेश्वर बांध परियोजना के बारे में सम्बंधित जिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए: मुख्य सचिव एस0 रामास्वामी

हल्द्वानी के सीए के निवास पर हरियाणा पुलिस का छापा, खाली हाथ लौटें

Leave a Comment