अंचल जी के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात् उनकी स्मृति में क्रांति चेतना स्मारिका का विमोचन करते हुए: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में सामंती व्यवस्था और सांप्रदायिकता के लिए कोई स्थान नहीं हो सकता है। राज्य की वर्तमान सरकार अलोकतांत्रिक आचरण कर रही है। सत्तारूढ़ दल के सरंक्षण में कानून को हाथ में लेने की दुस्साहसिक घटनाएं घट रही है। समाजवादी सरकार को बदनाम करने की साजिशें हो रही है। अन्याय के विरूद्ध समाजवादियों को संघर्ष के लिए तैयार रहना है। हम जनता को सच्चाई से अवगत कराएंगे और विघटनकारी ताकतों की पुरजोर खिलाफत भी करेंगे।
श्री यादव आज पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में पूर्वमंत्री तथा समाजवादी नेता श्री शारदानंद अंचल की 7वीं पुण्यतिथि पर उनके पुत्र एवं पूर्व विधायक श्री जय प्रकाश अंचल द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित कर रहे थे। संचालन श्री अमित त्रिपाठी ने किया। श्री यादव ने अंचल जी के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात् उनकी स्मृति में क्रांति चेतना स्मारिका का विमोचन  भी किया। उन्होंने कहा कि अंचल जी ने जीवन पर्यंत किसानो, गरीबों और नौजवानों के हितों के लिए संघर्ष किया था।
श्री अखिलेश यादव ने कहा कि आपातकाल के विरूद्ध जिन्होंने संघर्ष किया उनके त्याग और तपस्या से ही भारत में लोकतंत्र जीवित है। किसानों, नौजवानों और गरीबों की बात करके सत्ता में आई भाजपा इन्हीं की घोर विरोधी है। देश की जनता मन की बात सुनते-सुनते ऊब चुकी है। झूठे सपने दिखाकर जनता को बहकाने में भाजपा को महारत है। समाजवादी गरीब के करीब है, उनके दुःख दर्द से परिचित है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने बिना किसी भेदभाव के समाजवादी पेंशन, लैपटाप और कन्याधन बांटा। किसानों का कर्ज माफ किया, मुफ्त सिंचाई की। 102 और 108 नं0 एम्बुलेंस सेवा सब के लिए है। भाजपा को समाजवादी शब्द से चिढ़ है। यूपी 100 नं0 डायल सेवा की सराहना तो केंद्र सरकार ने भी की है। एक्सप्रेस-वे के लिए किसानों ने स्वतः जमीन दी। मेट्रो ट्रेन की योजना भी समाजवादी सरकार ने चलाई। सड़क, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई प्रभावी कदम उठाए। तमाम विकास कार्य जनहित में चालू किये गए।
कई वक्ताओ ने कहा कि समाजवादी मूल्यों की रक्षा के लिए श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व पर उनका भरोसा है। भाजपा नफरत की राजनीति कर रही है। यह सद्भाव के लिए यह चुनौती है। श्री अखिलेश यादव में ही इन चुनौतियों से निबटने की क्षमता है। सामाजिक न्याय की लड़ाई उन्हीं की अगुवाई में लड़ी जाएगी।
आज के कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष श्री अहमद हसन एवं श्री रामगोविंद चौधरी, श्री राजेंद्र चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेश उत्तम पटेल, राममूर्ति वर्मा, जियाउर्रहमान रिजवी, पारस नाथ यादव, एमएलसी श्री एसआरएस यादव एवं श्री अरविन्द कुमार सिंह की विशेष भागीदारी रही।
श्री अंचल जी की स्मृति सभा में सर्वश्री राकेश प्रताप सिंह, जयशंकर पाण्डेय, गीता सिंह, रमाशंकर विद्यार्थी, लीलावती कुशवाहा, नृपेन्द्र मिश्र बागी, व्यास जी गौड़, सुरेश पासवान, लक्ष्मण गुप्ता, संजय यादव, शमसाद बांसपारी, संतोष यादव, जयसिंह जयंत, उमेश यादव, यशपाल सिंह, विनय प्रकाश अंचल, जावेद जाफरी, अमरजीत यादव की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

Related posts

राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 14 दिसम्बर को होगा

श्री शुएब अहमद को समाजवादी पार्टी उत्तराखण्ड का प्रदेश महासचिव मनोनीत किया

‘निर्मल गंगा-अविरल गंगा बनाने हेतु प्लास्टिक मुक्त नदियां‘ विषय पर आयोजित एक संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए: योगी आदित्यनाथ

2 comments

Leave a Comment