Breaking News
Home » देश-विदेश » अमरीका: प्रेस कॉन्फ़्रेंस में भड़के ट्रंप, रद्द की CNN के पत्रकार की मान्यता

अमरीका: प्रेस कॉन्फ़्रेंस में भड़के ट्रंप, रद्द की CNN के पत्रकार की मान्यता

व्हाइट हाउस ने अमरीकी न्यूज़ चैनल ‘केबल न्यूज़ नेटवर्क’ (सीएनएन) के चीफ़ व्हाइट हाउस संवाददाता की मान्यता को रद्द कर दिया है. राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के दफ़्तर के इस फ़ैसले को सीएनएन संवाददाता के तीखे सवाल पूछे जाने की प्रतिक्रिया के तौर पर देखा जा रहा है.

बुधवार को व्हाइट हाउस में हुई एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में एक सरकारी कर्मचारी ने सीएनएन के संवाददाता जिम एकोस्टा से माइक छीनने की कोशिश की थी. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर पहले ही वायरल हो चुका है.

हालांकि डोनल्ड ट्रंप की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा है कि सीएनएन संवाददाता जिम एकोस्टा की मान्यता को ‘एक महिला के साथ गुस्ताख़ी करने के आरोप’ में रद्द किया गया है. राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में ही कहा था कि सीएनएन का पत्रकार एक बेहद ‘बदतमीज़ और अक्खड़’ इंसान हैं.

प्रेस कॉन्फ़्रेंस में हुआ क्या था?

संवाददाता जिम एकोस्टा अमरीकी राष्ट्रपति से मेक्सिको के शरणार्थियों और मेक्सिको से अमरीका की ओर बढ़ रहे प्रवासियों के एक  काफ़िले के बारे में सवाल करना चाहते थे. लेकिन इस सवाल के बीच में ही ट्रंप के दफ़्तर में तैनात एक महिलाकर्मी ने पत्रकार के हाथ से माइक झपटने की कोशिश की.

उसी बीच अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भी ये कहना शुरू कर दिया कि “बहुत हुआ, बहुत हुआ… बस करिए”. ट्रंप ने जिम एकोस्टा को माइक नीचे रखने के लिए भी कहा.

इसके बाद डोनल्ड ट्रंप ने कहा, “सीएनएन को ख़ुद पर शर्मिंदा होना चाहिए कि आप उनके लिए काम करते हैं. जिस तरह का व्यवहार आपने सारा सैंडर्स की टीम की मेंबर के साथ किया, वो निंदनीय है.”

  • यूएन में अमरीकी राजदूत निकी हेली ने दिया इस्तीफ़ा
  • क्या सचमुच असद की हत्या कराना चाहते थे डोनल्ड ट्रंप?
  • ट्रंप की चेतावनी, लापता पत्रकार पर सऊदी को ‘सख़्त सज़ा’ देंगे

व्हाइट हाउस ने क्या कहा?

डोनल्ड ट्रंप की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने इस बारे में व्हाइट हाउस का आधिकारिक बयान ट्विटर पर पोस्ट किया है.

सारा सैंडर्स ने लिखा:

  • राष्ट्रपति ट्रंप फ़्री प्रेस में विश्वास रखते हैं. वो मुश्किल सवालों का भी स्वागत करते हैं. बावजूद इसके हम किसी ऐसे संवाददाता को बर्दाश्त नहीं कर सकते जो अपने काम में जुटी एक युवा महिला के साथ बदसलूकी करे.
  • पत्रकार का व्यवहार बहुत ख़राब था. वो अपने किसी साथी को सवाल नहीं पूछने दे रहे थे, ये भी एक ग़लती थी.
  • अमरीका के 45वें राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने पूर्व अमरीकी राष्ट्रपतियों की तुलना में प्रेस के लोगों को सबसे ज़्यादा जगह, तरजीह और सम्मान दिया है.
  • जिस दिन ये घटना हुई, उस दिन अमरीकी राष्ट्रपति ने 68 प्रशनों के जवाब दिये थे जो उनसे 35 पत्रकारों ने पूछे थे. सवाल पूछने वाले पत्रकारों में सीएनएन के जिम एकोस्टा भी शामिल थे.
  • लेकिन सीएनएन डोनल्ड ट्रंप के फ़्री प्रेस के उसूल को नहीं सामने रखेगा. सीएनएन सिर्फ़ इस घटना के आधार पर दिखाएगा कि कैसे उनके पत्रकार को रोक दिया गया.
  • तथ्य ये है कि सीएनएन को अपने कर्मचारियों के व्यवहार पर गर्व है. ये न केवल घृणा से भरा हुआ है, बल्कि ये सभी युवाओं समेत उस महिला की अपमानजनक अवहेलना का एक बड़ा उदाहरण है जो ट्रंप प्रशासन के लिए काम करती है.
  • इसलिए नतीजे के तौर पर व्हाइट हाउस ने सीएनएन के पत्रकार का हार्ड पास रद्द कर दिया है. अगले नोटिस तक वो किसी भी इवेंट में हिस्सा नहीं ले सकेंगे.

प्रतिक्रिया क्या हुई?

सीएनएन के पत्रकार जिम एकोस्टा ने इसकी पुष्टि करते हुए ट्वीट किया कि उन्हें व्हाइट हाउस में दाखिल होने से रोक दिया गया है. अमरीकी पत्रकारों ने जिम एकोस्टा के ख़िलाफ़ हुई इस कार्रवाई की निंदा की है.

सीएनएन ने भी इस मुद्दे पर बयान जारी किया है. न्यूज़ चैनल का कहना है कि उनके पत्रकार ने डोनल्ड ट्रंप से कड़े सवाल पूछे, इससे चिढ़कर व्हाइट हाउस ने उसकी मान्यता रद्द की है.

सीएनएन ने आरोप लगाया है कि अमरीकी राष्ट्रपति की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स झूठ बोल रही हैं और उन्होंने जिम एकोस्टा पर झूठे आरोप लगाए हैं.

व्हाइट हाउस कवर करने वाले संवाददाताओं की समिति ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन के ये फ़ैसला ग़लत है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

समिति ने व्हाइट हाउस से अपील की है कि वो अपना ये कमज़ोर फ़ैसला तुरंत वापल ले. source: bbc.com/hindi

About admin