Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में अन्र्तराष्ट्रीय कृषि प्रदर्शनी एवं कृषक सेमिनार का होगा आयोजन: अमित मोहन प्रसाद

भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में अन्र्तराष्ट्रीय कृषि प्रदर्शनी एवं कृषक सेमिनार का होगा आयोजन: अमित मोहन प्रसाद

लखनऊः दिनांक 26, 27 एवं 28 अक्टूबर 2018 को कृषि कुम्भ का आयोजन किया जाना है, जिसमें अन्र्तराष्ट्रीय कृषि प्रदर्शनी एवं कृषक सेमिनार का आयोजन भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, रायबरेली रोड, लखनऊ में सम्पन्न किया जाना है, इस सम्बन्ध में आज दिनांक 04 अगस्त, 2018 को प्रमुख सचिव, कृषि  श्री अमित मोहन प्रसाद, विशेष सचिव कृषि श्री प्रशान्त शर्मा, कृषि निदेशक, उ0प्र0 के साथ पशुपालन,उद्यान, मत्स्य एवं मण्डी, यू0पी0 शुगर फेडरेशन  के निदेशक एवं मण्डी परिषद के मुख्य अभियन्ता के अलावा कृषि विभाग के अपर कृषि निदेशकों के साथ भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान के निदेशक एवं वैज्ञानिकों के साथ आयोजन के सम्बन्ध में विचार-विमर्श किया गया। अन्र्तराष्ट्रीय प्रदर्शनी में विभिन्न प्रकार के शोध कार्यो, उन्नतशील कृषि यन्त्रों के साथ ही पशुपालन, उद्यान, मत्स्य एवं कृषि विभाग द्वारा सजीव प्रयोग दर्शाये जायेगें। इस प्रदर्शनी में अन्र्तराष्ट्रीय शोध संस्थानों के साथ ही विभिन्न देशों के वैज्ञानिकों से कृषक चर्चा करायी जायेगी। नवीनतम कृषि तकनीकी, कृषि यन्त्रों, उन्नत पशु प्रजातियों, को भी यहाॅ प्रर्दशित किया जायेगा इसके लिये स्थल चयन की कार्यवाही कर ली गयी है। सभी विभागों के अधिकारियों के साथ ले-आउट  को अन्तिम रूप देते हुये अपने-अपने विभाग के कार्यो केे सम्पन्न करने हेतु प्रमुख सचिव कृषि द्वारा निर्देश दे दिये गये।

प्रमुख सचिव कृषि द्वारा कृषि कृम्भ के आयोजन के सम्बन्ध में निम्न समितियों का गठन किया गया यथा आमन्त्रण समिति, परिवहन समिति, आवास-निवास समिति,  मीडिया/प्रचार-प्रसार समिति, प्रोटोकाल समिति, खाद्य समिति, वित्त समिति, तकनीकी सत्र समिति, समन्वय समिति, एवं मंच संचालन समिति। उक्त समितियाॅ ही कृषि कुम्भ एवं प्रदर्शनी के आयोजन हेतु उत्तरदायी होगी।

स्थलीय निरीक्षण के समय कृषकांे की उपस्थिति, पार्किंग एवं जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित किये जाने के निर्देश दिये गये । दूरस्थ क्षेत्रों से आने वाले कृषकों तथा गेस्ट स्पीकर को रूकने हेतु जनपद में उपलब्ध रैन बसेरों, गेस्ट हाउस आदि को रिजर्व कराने हेतु अपेक्षा की गयी। कृषि कुम्भ में लगभग 50 हजार कृषकों के आने की सम्भावना है।

About admin