Breaking News
Home » कृषि संबंधित » धान क्रय हेतु किसानों का आॅनलाइन पंजीकरण 31 अगस्त तक

धान क्रय हेतु किसानों का आॅनलाइन पंजीकरण 31 अगस्त तक

लखनऊ: खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में मूल्य समर्थन योजनान्तर्गत धान खरीद हेतु किसान खाद्य विभाग के पोर्टल बिेण्नचण्दपबण्पद पर आगामी 31 अगस्त तक पंजीकरण जनसुविधा केन्द्र/साइबर कैफ़े से करा सकते हैं।

यह जानकारी आज यहां आयुक्त आलोक कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पहली बार बिचैलियों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु खाद्य विभाग के पंजीकरण पोर्टल को राजस्व विभाग के आॅनलाइन पोर्टल से जोड़ा गया है, जिससे कि भूमि के रकबे का आॅनलाइन विवरण प्राप्त कर सम्बन्धित तहसील के उपजिलाधिकारी/तहसीलदार के माध्यम से फसल के रकबे का आनलाइन सत्यापन कराया जा सके। इसके लिए सभी उपजिलाधिकारियों को एन0आई0सी0 द्वारा खाद्य विभाग के पोर्टल पर लाॅगिन, पासवर्ड शीघ्र ही उपलब्ध कराया जा रहा है। पंजीकरण हेतु आवश्यकता अनुसार सम्बन्धित तहसील क्षेत्र के क्षेत्रीय विपणन अधिकारियों एवं विपणन निरीक्षकों से स्थानीय स्तर पर सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिये गये है।

खाद्य आयुक्त ने बताया कि पंजीकरण हेतु किसान को अपना आधार, मोबाइल नम्बर, बैंक खाता विवरण तथा खतौनी की खाता संख्या को पंजीकरण प्रपत्र में भरना होगा। खतौनी की खाता संख्या के आधार पर राजस्व विभाग के पोर्टल भू-लेख के माध्यम से भूमि का रकबा स्वतः प्रदर्शित होगा, जिसमें किसान को अपनी हिस्सेदारी एवं बोये गये धान के रकबे को फीड करना होगा। इसके बाद सम्बन्धित उपजिलाधिकारी/ तहसीलदार की घोषणा के आधार पर किसान के भूमि के रकबे का आॅनलाइन सत्यापन खाद्य विभाग के पोर्टल पर उपलब्ध कराये गये लाॅगिन के माध्यम से किया जायेगा।

सत्यापन के पश्चात् जनपद की उत्पादकता एवं फसल के रकबे के आधार पर अधिकतम बेची जाने वाली मात्रा का आंकलन पंजीयन माॅड्यूल द्वारा पंजीयन प्रपत्र पर अंकित हो जायेगा। किसान उक्त मात्रा से अधिक धान क्रय केन्द्र पर नहीं बेच सकेंगे। उपजिलाधिकारी के सत्यापन के बाद पंजीयन प्रक्रिया पूर्ण हो जायेगी और सम्बन्धित किसान पंजीकरण का प्रिंटआउट प्राप्त कर सकेंगे। क्रय केन्द्र पर धान बेचने के समय किसान को पंजीकरण प्रमाण-पत्र के साथ बैंक खाता पासबुक एवं आधार मूल रूप से केन्द्र प्रभारी के समक्ष अंकित विवरण से मिलान हेतु प्रस्तुत करने होंगे।

खाद्य आयुक्त ने बताया कि धान खरीद वर्ष 2018-19 में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद, बरेली, आगरा, अलीगढ़, झांसी, लखनऊ (जनपद सीतापुर एवं लखीमपुर खीरी) मण्डलों में 01 अक्टूबर, 2018 से तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के कानपुर, लखनऊ (जनपद लखनऊ, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली) फैजाबाद, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, विन्ध्यांचल, वाराणसी, इलाहाबाद, चित्रकूट मण्डलों में 01 नवम्बर, 2018 से धान क्रय किया जाना प्रस्तावित है।

About admin