Breaking News
Home » देश-विदेश » करतारपुर कॉरिडोरः भारत-पाक की बैठक खत्म, 2 अप्रैल को अगली बैठक

करतारपुर कॉरिडोरः भारत-पाक की बैठक खत्म, 2 अप्रैल को अगली बैठक

भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पहली बैठक अटारी में जारी है. यह कॉरिडोर पाकिस्तानी शहर करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले से जोड़ेगा. इस प्रोजेक्ट पर दोनों देशों के सहमति जताने के तीन महीने बाद यह बैठक हो रही है. इस बैठक में भारत पाकिस्तान से अपील कर सकता है कि वह भारतीय तीर्थयात्रियों को गुरुद्वारे तक बिना पासपोर्ट और वीजा के जाने की इजाजत दे.

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत-पाकिस्तान की ज्वॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर बातचीत के बाद भारत-पाकिस्तान ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा-

  • गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने के लिए श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए तौर-तरीकों और समझौते पर चर्चा हुई
  • तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए तौर-तरीकों और समझौते पर चर्चा के लिए पहली बैठक सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुई
  • भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव एस.सी.एल. दास और पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक डॉ. मोहम्मद फैसल ने किया
  • दोनों पक्षों ने प्रस्तावित समझौते के अलग-अलग पहलुओं और प्रावधानों पर विस्तृत और रचनात्मक चर्चा की और करतारपुर साहिब कॉरिडोर का तेजी से संचालन करने की दिशा में काम करने पर सहमति जताई
  • 2 अप्रैल 2019 को वाघा में अगली बैठक आयोजित करने पर सहमति बनी

इन बातों पर जोर दे सकता है भारत

भारत पाकिस्तान से अपील कर सकता है कि वह भारतीय तीर्थयात्रियों को गुरुद्वारे तक बिना पासपोर्ट और वीजा के जाने की इजाजत दे. भारत पाकिस्तान से यह भी कह सकता है कि वह तीर्थयात्रियों को खालिस्तानी अलगाववादियों के प्रोपेगेंडा से बचाए. पिछले साल पाकिस्तान में दो सिख गुरुद्वारों की ओर जाते हुए भारतीय तीर्थयात्रियों को खालिस्तान समर्थक बैनर दिखाए जाने की रिपोर्ट सामने आई थीं.

क्या है करतारपुर कॉरिडोर?

करतारपुर कॉरिडोर पाकिस्तानी शहर करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले से जोड़ेगा. पिछले साल नवंबर में भारत और पाकिस्तान इस कॉरिडोर को बनाने पर सहमत हुए थे.

सिखों के प्रथम गुरु गुरुनानक देव ने करतारपुर साहिब में अपने जीवन के 18 साल बिताए थे. करतारपुर साहिब पाकिस्तान के नरोवाल जिले में रावी नदी के पार स्थिति है जो डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से करीब चार किलोमीटर दूर है.

करतारपुर कॉरिडोर: भारत-पाक की बैठक जारी

भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पहली बैठक अटारी में जारी है. साभार द क्विंट

About admin