Breaking News
Home » उत्तर प्रदेश » रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र सभी एआरटीओ कार्यालयों को शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश: स्वतंत्र देव सिंह

रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र सभी एआरटीओ कार्यालयों को शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश: स्वतंत्र देव सिंह

लखनऊ: प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), ऊर्जा एवं प्रोटोकाॅल राज्यमंत्री श्री स्वतंत्र देव सिंह ने विगत दो वित्तीय वर्ष (2016-17 व 2017-18) में विभागीय कार्यक्रमों के लक्ष्यों को शत्-प्रतिशत पूरा करने तथा अच्छा कार्य करने वाले 70 एआरटीओ, 09 आरटीओ तथा 04 डीटीसी को प्रशस्ति पत्र देकर 30 वर्षों में पहली बार कर्मठ अधिकारियों को सार्वजनिक रूप से सम्मानित किया। उन्होंने परिवहन कार्यालयों में छः महीने से संकटग्रस्त रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र को शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्देशित किया कि वाहनों की वीआईपी नं0 की आॅनलाइन बुकिंग में धांधली करने वाले तथा नं0 को हैक करने वाले साइबर अपराधियों पर एफआईआर दर्ज की जाय। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार व दलाली की शिकायत पर संबंधित एआरटीओ, आरटीओ तथा डीटीसी पर सख्त कार्यवाही होगी।

परिवहन मंत्री आज परिवहन निगम मुख्यालय में परिवहन विभाग के प्रगति कार्यों तथा राजस्व वसूली की समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने निर्धारित लक्ष्य से सबसे कम राजस्व वसूली वाले 10 सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारियों, संबंधित सम्भागीय परिवहन अधिकारियों व उप परिवहन आयुक्त को फटकार लगाई तथा लक्ष्य को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने बकाया राशि वसूलने में आ रही परेशानियों को समझने तथा इन्हें दूर करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दलाली व भ्रष्टाचार की शिकायत संबंधी रिपोर्ट 24 घण्टे के भीतर परिवहन आयुक्त कार्यालय को उपलब्ध कराएं, नहीं तो संबंधित एआरटीओ, आरटीओ तथा डीटीसी पर सख्त कार्रवाई होगी।

परिवहन मंत्री ने सभी वाहनों पर मानक केे अनुरूप रिफ्लेक्टर टेप लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि रिफ्लेक्टर टेप लगे बगैर किसी भी जिले में वाहन न चले। उन्होंने सड़क सुरक्षा कार्यक्रमों को प्रतिमाह चलाने, साथ ही भाषण प्रतियोगिता, नाटक व सांस्कृतिक कार्यक्रम कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि डीटीसी व आरटीओ जिलों में रात्रि प्रवास करें तथा जिले के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के साथ मिलकर सड़क सुरक्षा कार्ययोजना बनाये। उन्होंने कहा कि 04 से 10 फरवरी, 2019 को सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जाना है, जिसके लिए प्रत्येक दिन के कार्यक्रमों की कार्ययोजना बनकर 16 जनवरी तक मुख्यालय भेजा जाये।

परिवहन मंत्री ने निर्देशित किया कि सड़क सुरक्षा पब्लिसिटी वैन की प्रतिदिन माॅनिटरिंग की जाये तथा यह वैन गांव-गांव जा रही है की नहीं इसके प्रचार-प्रसार की फोटो भी प्राप्त की जाये। उन्होंने कहा कि सभी परिवहन कार्यालयों के सौन्दर्यीकरण कार्य को प्राथमिकता पर कराये। उन्होंने कहा कि शिकायतें हैं कि आटोमोबाइल डीलर आरटीओ के नाम पर वाहन मालिक से मनमानी वसूली कर रहे हैं, इस पर निगरानी रखी जाये। उन्होंने राजस्व बढ़ाने के लिए आॅनलाइन कार्यों पर जोर देने को कहा तथा सभी आरटीओ को अपने-अपने जनपद के ड्राइवर प्रशिक्षण केन्द्रों के निर्माण कार्यों की प्रगति का परीक्षण कर इसकी रिपोर्ट मुख्यालय को भेजने के निर्देश दिये।

प्रमुख सचिव परिवहन श्रीमती आराधना शुक्ला ने निर्देश दिये कि सड़क सुरक्षा सप्ताह की कार्य योजना को लेकर अभी से जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक कर लें। सभी 75 जिलों के एआरटीओ सड़क सुरक्षा पर बच्चों का एक-एक नाटक जरूर करा लें। साथ ही भाषण प्रतियोगिता तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर भी जोर दें। उन्होंने सभी टोल प्लाजा व भीड़-भाड़ वाले स्थानों, कुम्भ के मुख्य मार्गो पर सड़क सुरक्षा सम्बन्धी होर्डिंग लगाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने निर्देशित किया कि सड़क दुर्घटना राशि का भुगतान पीड़ित को शीघ्र कराये। उन्होंने हेलमेट/सीटबेल्ट अभियान को प्रमुखता से चलाने के भी निर्देश दिये।

About admin