Breaking News
Home » खेल समाचार » फेडरर को हरा थिएम बने इंडियन वेल्स चैंपियन

फेडरर को हरा थिएम बने इंडियन वेल्स चैंपियन

आस्ट्रिया के डॉमिनिक थिएम ने स्विस मास्टर रोजर फेडरर को उनके रिकार्ड छठे इंडियन वेल्स खिताब से वंचित करते हुये करियर में पहली बार एटीपी मास्टर्स 1000 खिताब अपने नाम कर लिया है। थिएम ने फेडरर को पुरूष एकल फाइनल में 3-6, 6-3, 7-5 से हराया। 25 साल के आस्ट्रियन खिलाड़ी और विश्व में आठवीं रैंक थिएम को इससे पहले मास्टर्स फाइनल में ही दो बार फेडरर से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन करियर की कुल पांचवीं भिड़ंत में उन्हें तीसरी बार स्विस खिलाड़ी पर जीत हासिल हुई। हार्ड कोर्ट पर यह आस्ट्रियाई खिलाड़ी की स्विस मास्टर के खिलाफ पहली जीत है। थिएम को मैच के फाइनल सेट के 11वें गेम में उपयोगी ब्रेक अंक हासिल हुआ जिसे उन्होंने अपने बेहतरीन फोरहैंड विनर्र के साथ भुना लिया। उन्होंने दो घंटे दो मिनट में जाकर मैच अपने नाम किया जब फेडरर का फोरहैंड नेट में फंस गया। आस्ट्रियाई खिलाड़ी के लिये यह न सिर्फ उनके करियर की पहली मास्टर्स 1000 जीत है बल्कि इसकी बदौलत वह अब करियर की सर्वश्रेष्ठ चौथी रैंकिंग पर भी पहुंच जाएंगे।

यह लगातार दूसरा वर्ष है जब फेडरर को इंडियन वेल्स फाइनल में हार झेलनी पड़ी है। वर्ष 2018 में वह अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो से हारकर तीन चैंपियनशिप अंक गंवा बैठे थे। दुबई में हाल ही में करियर का रिकार्ड 100वां खिताब जीतने वाले स्विस मास्टर अब इंडियन वेल्स में पांच बार खिताब जीतने के मामले में सर्बिया के नोवाक जोकोविच के बराबर ही हैं। उपविजेता फेडरर को हालांकि एटीपी रैंकिंग में फायदा पहुंचा है और वह पांचवें स्थान पर पहुंच जाएंगे। रिकार्ड 24 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन खिलाड़ी का खिताबी मुकाबले में प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा और वह 11 में से दो बार ही ब्रेक अंक भुना सके, जबकि थिएम के 25 की तुलना में उन्होंने 32 बेजा भूलें कीं।

हालांकि फेडरर की शुरूआत अच्छी रही और उन्होंने पहले सर्विस गेम पर ही थिएम की सर्विस ब्रेक कर दी और ओपनिंग सेट में चौथे ब्रेक अंक पर 2-0 की बढ़त बना ली। अपने बेहतरीन बैकहैंड रिटर्न के साथ उन्होंने 5-3 की बढ़त बनाई और पहला सेट 36 मिनट में समाप्त कर 1-0 की बढ़त बना ली। हालांकि फिर वह लय भटक गये और दूसरे सेट में खराब सर्विस गेम से थिएम ने शुरूआत में ही फेडरर की सर्विस ब्रेक कर दी और आस्ट्रियाई खिलाड़ी ने खेल को निर्णायक सेट में पहुंचा दिया। थिएम ने फाइनल सेट में शुरूआती ब्रेक अंक हासिल किया और तीन गेम बाद फेडरर की सर्विस ब्रेक कर दी।

उन्होंने पहले सर्विस प्वांइट पर 70 फीसदी अंक जीते और फेडरर का रिटर्न नेट में फंसते ही अपनी जीत का जश्न मनाया। स्विस खिलाड़ी ने जीत के बाद कहा कि मुझे लगता है कि फेडरर को बधाई देने का अधिकार मेरे पास नहीं है क्योंकि उनके पास मुझसे 88 खिताब अधिक है। वर्ष 1997 में मियामी में थामस मस्टर के बाद थिएम पहले आस्ट्रियाई खिलाड़ी हैं जिन्होंने मास्टर्स 1000 खिताब जीता है। फेडरर ने भी उन्हें इस जीत के लिये बधाई दी। उन्होंने कहा कि मेरे लिये यह सप्ताह बहुत अच्छा रहा है लेकिन फाइनल में स्थिति मेरे हिसाब से नहीं रही। डॉमिनिक को बधाई। आप इस जीत के हकदार हो।

About admin