Breaking News
Home » देश-विदेश » जम्मू-कश्मीर: 32 घंटे बाद खत्म हुआ एनकाउंटर, 2 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर: 32 घंटे बाद खत्म हुआ एनकाउंटर, 2 आतंकी ढेर

श्रीनगर: सुरक्षा बलों ने श्रीनगर में करन नगर इलाके की एक इमारत में पिछले 35 घंटों से छिपे आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक हमला शुरू कर दिया. एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी ढेर हो गए हैं. हालांकि सुरक्षाबलों ने कॉम्बिंग ऑपरेशन को जारी रखा हुआ है.

आतंकवादियों द्वारा सोमवार को सीआरपीएफ के एक शिविर पर हमले का प्रयास किए जाने के बाद आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच शुरू मुठभेड़ मंगलवार को देर तक जारी रही. बता दें कि आतंकवादी करण नगर में सीआरपीएफ कैंप के पास की ही बिल्डिंग में छिपे थे. फायरिंग सोमवार सुबह से जारी थी.

उधर, सुंजवान सैन्य शिविर में तलाशी के दौरान एक और जवान का शव बरामद हुआ है जिसके बाद जम्मू में हुए आतंकी हमले के मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है. जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है.

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और डिप्टी सीएम निर्मल सिंह ने कैंप जाकर हमले में शहीद जवानों को अंतिम श्रद्धांजलि दी. इसके अलावा सीएम मुफ्ती हमले में शहीद 4 जवानों के परिजनों से भी मिलीं और उनका साहस बढ़ाया. सोमवार को जम्मू-कश्मीर के राजस्व मंत्री अब्दुल रहमान वीरि ने राज्य विधानसभा में बताया कि श्रीनगर के करण नगर इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच जारी मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया है.

मंगलवार को आईजीपी स्वयं प्रकाश पाणी ने बताया कि हमें बिल्डिंग में दो आतंकियों की मौजूदगी का अंदेशा है. ऑपरेशन फाइनल स्टेज पर है. हम हमले को जारी रखे हुए हैं और यह बहुत ही जल्द खत्म हो जाएगा. वहीं, सीआरपीएफ के आईजी ऑपरेशन जुल्फीकार हसन ने बताया कि एनकाउंटर अभी भी जारी है. हम बेहद संभलकर इसे आगे बढ़ा रहे हैं ताकि आम नागरिकों को और संपत्ति को किसी तरह का नुकसान न पहुंचे.

सुबह फिर शुरू हुई मुठभेड़
रात भर की शांति के बाद श्रीनगर में करन नगर इलाके की एक इमारत में छिपे आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मंगलवार सुबह फिर से मुठभेड़ शुरू हो गई. सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच फिर से मुठभेड़ शुरू हो गई.

यह घटना जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के आतंकवादियों द्वारा जम्मू के सुंजवान इलाके में सेना के शिविर पर किये गये हमले के कुछ दिन के बाद हई है. उस हमले में पांच जवानों सहित छह लोग मारे गये थे. सेना के जवाबी हमले में तीन आतंकवादी भी मारे गये थे.

About admin